बिजनेस आईडियाभविष्य का कारोबार इलेक्ट्रिक वाहन पब्लिक (EV) चार्जिंग स्टेशन बिज़नेस | Electric...

भविष्य का कारोबार इलेक्ट्रिक वाहन पब्लिक (EV) चार्जिंग स्टेशन बिज़नेस | Electric Vehicle Public Charging Station Business in Hindi

Electric Vehicle Public Charging Station Business: भारत! जहां कारोबार की सम्भावनाये हमेशा बनी ही रहती है क्योंकि आज भी भारत एक विकासशील देश की श्रेणी में आता है. यहाँ आज भी आवागमन (ट्रांसपोर्टेशन) के लिए प्राकृतिक ईंधन (डीजल व पेट्रोल) से संचालित होने वाले वाहनों को उपयोग में लिया जाता है.

हम सभी जानते हैं कि पृथ्वी के संसाधन सीमित हैं और जिस गति से उपभोग किये जा रहे हैं उसे देखते हुए जल्द ही समाप्ति के कगार पर पहुच जायेंगे.

ऐसी स्तिथि में हमें अपने उन प्राथमिक आवश्यकताओं की पूर्ती करने वाले उद्यमों पर विचार करने की जरूरत है जो प्रकृति के साथ-साथ हमारे लिए भी हितकर साबित हों. ऐसे ही एक सकारात्मक विचार के साथ Electric Vehicle (EV) का सृजन किया गया है. जो आने वाले भविष्य में हमारी प्राथमिक जरूरतों को पूरी करने की क्षमता रखता है.

इलेक्ट्रिक-वाहन-पब्लिक-चार्जिंग-स्टेशन-बिज़नेस-Electric-Vehicle-Public-Charging-Station-Business

असल में ev charging station business model हमारा आने वाला भविष्य है और इससे जुड़े (जो कि स्वयं में एक विस्तृत व्यवसाय हैं) सभी घटक जैसे- Electric Vehicle (EV) Spare Part Making Business, Electric Vehicle (EV) Model Designing Business और सेवाएँ

जैसे- Electric Vehicle (EV) Repairing & Maintenance Business (Retrofitting), Electric Vehicle (EV) Charging Station Business & Electric Vehicle (EV) Testing Business आदि आने वाले भविष्य में अच्छे मुनाफे की सौगात देने वाली हैं.

और आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपके साथ Electric Vehicle Charging Station Business plan के बारे में विस्तृत चर्चा करने जा रहे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि अब बिजली से संचालित होने वाले वाहनों के चार्जिंग स्टेशनों की मांग बढ़ने लगी है.

और वैसे भी बिजनेस का पहला नियम होता है कि “सबसे पहले शुरू करो और अच्छा मुनाफा कमाओ, बाद में शुरू करने पर तगड़ा मुकाबला करना पड़ता है.”

तो EV Charging Station Business शुरू करने के लिए इच्छुक उद्यमी (entrepreneur) को किन-किन बातों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है साथ ही Charging Station Business को स्थापित करने के लिए क्या-क्या जरूरी चीजों और कितनी लागत की जरूरत होगी? आइये शुरू करते हैं आज के विषय की चर्चा-

अनुक्रमिका

स्थान की आवश्यकता व चयन (Required Area & its selection)-

EV Charging Station Business शुरू करने के लिए सबसे पहला घटक है स्थान की आवश्यकता. EV Charging Station Business को स्थापित करने के लिए न्यूनतम 2500 sqft area की आवश्यकता होती है. इस स्थान का चयन ऐसी विशेष रणनीति से किया गया हो कि ग्राहकों/उपभोक्ताओं को यहां तक पहुचने के लिए कोई समस्या न आये.

आपके चयनित स्थान पर EV Charging Station सुनियोजित कर मानकों के अनुसार निर्धारित किये जाने जरूरी है. कमर्शियल चार्जिंग स्टेशन में कम से कम 03 तरह से चार्जिंग काउंटर होना जरूरी है.  यह संभावित स्थान (जहां भी पार्किंग व्यवस्था व Heavy Volt लोड बिजली कनेक्शन उपलब्ध हो) सकते हैं- पेट्रोल पम्प, कमर्शियल बिल्डिंग, shopping mall, high ways, रिपेयरिंग व मेंटेनेंस सेंटर आदि.

चयनित स्थान पर लागत-

वांछित घटक (Requirement)संभावित खर्च (Estimated Cost-approx)
चयनित स्थान का किराया₹ 50,000 प्रति माह
बिजली उपकरण (सपरेट ट्रांसफार्मर, केबिल, मीटर, वायरिंग)₹ 5,50,000 (One time investment)
स्टेशन निर्माण सम्बन्धी कार्य (सिविल वर्क- depend on area)₹ 3,00,000 (One time investment)
Station Maintenance and Technical support team (like app and website creation)₹ 2,10,000
Brand promotion and MarketingRs. 50,000 (As per required)
Total 11,60,000/-

सुझाव-

  1. चयनित स्थान पर EV Charging Station स्थापित करने के लिए आप इसका नक्शा (blue print) अवश्य बनवा लें.
  2. चयनित स्थान पर सुलभ शौचालय (टॉयलेट) की सुविधा पर विशेष ध्यान दें.
  3. आमदनी के लिहाज से EV Charging Station पर प्राथमिक खाने पीने के उत्पाद बिक्री केंद्र की पहल.

समस्याएँ-

सामान्यत: ev charging station को business के तौर पर शुरू करने के इच्छुक उद्यमी को कुछ संभावित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. मुख्यत: इन समस्याओं को एक रणनीति से अगर सुलझाया जाये तो इनसे एक अच्छी आय (profit) भी आसानी से बनाया जा सकता है. ये समस्याएँ हो सक्तो हैं-

पब्लिक ev charging station पर बड़ी संख्या में जमाव की समस्या?

पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन पर सबसे अहम् भूमिका में होता है चयनित स्थान का फैलाव. मतलब ईवी चार्जिंग स्टेशन को स्थापित करने के लिए पहले ही उन सभी मुख्य तथ्यों पर गहनता (business plan) से संज्ञान लेना और उनपर काम करना बहुत ही जरूरी है. जो व्यवसाय पर गहरा प्रभाव डाल सकते हैं.

हालाँकि भारत में अभी इसकी शुरुआत ही है, इसलिए यह जरूरी है कि इच्छुक उद्यमी द्वारा स्थान का चयन करते समय उन तथ्यों पर फोकस करना जरूरी है, जिससे उसे भविष्य में दिक्कतों का सामना कम से कम करना पड़े.

बताये गए मानक से छोटे आकार के स्थान पर हाइड्रोलिक आधारित पार्किंग का इस्तेमाल एक सकारात्मक पहल हो सकती है. इस मैकेनिज्म की मदद से सीमित स्थान पर भी बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग का कारोबार आसानी से किया जा सकता है.

पब्लिक ev charging station पर वाहन मालिकों/ग्राहकों को better experience देने में कमी का होना?

यह पूरी तरह से सही नहीं है क्योंकि प्रत्येक वाहन मालिक अथवा ग्राहक की मानसिकता अलग-अलग हो सकती है. हालाँकि वाहन को चार्जिंग के लिए कुछ समय की आवश्यकता होती है.

इस दरमियान वाहन मालिक अथवा ग्राहको को better experience देने के लिए इच्छुक उद्यमी अपने चार्जिंग स्टेशन पर एक छोटा सा जलपान गृह की व्यवस्था करना हितकर साबित हो सकता है.

इससे जहां एक तरह उपभोक्ताओं को better experience देने की बात को बल मिलेगा, वहीं दूसरी ओर इच्छुक उद्यमी के कमाई का एक नया जरिया भी तैयार हो जाएगा. जो कि बिजनेस के लिहाज से उच्च मुनाफे को इंगित करता है.

पब्लिक ev charging station पर प्राथमिक/औपचारिक वाहन मेंटेनेस की सुविधा की समस्या?

अमूमन मौजूदा पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशनों पर वाहन की टूट-फूट जैसी समस्याओं के निस्तारण के लिए औपचारिक वाहन मेंटेनेस देखने को नहीं मिलता. ग्राहकों की इन समस्याओं का समाधान करने के लिए इच्छुक उद्यमी के लिए अपने स्टेशन पर 01 मेंटेनेस टीम की तैनाती काफी हितकर साबित हो सकती है.

यह जरूरी नहीं कि वाहन का मेंटेनेस मुफ्त में किया जाए. वाहन मेंटेनेस के लिए इच्छुक उद्यमी वाहन स्वामी से मेंटेनेस चार्ज की मांग कर सकता है. मौजूदा समय में भारी ट्रैफिक के कारण वाहनों पर अक्सर डेंट अथवा टूट-फूट होती रहती है, जिसका उपचार लगभग सभी करवाते ही हैं. व्यवसायिक दृष्टी से यह सकारात्मक विचार है, जो तगड़े मुनाफे को इंगित करता है.

बिजली की आवश्यकता (Required electricity)-

EV Charging Station Business को शुरू करने के लिए सबसे पहले जिस घटक की आवशयकता होती है वह है इलेक्ट्रिक मतलब बिजली का कनेक्शन. कमर्शियल स्तर पर public charging station business को स्थापित करने के लिए आपको heavy load के separate connection (line) की आवश्यकता होगी. इसकी लोड क्षमता चयनित चार्जर की कैपेसिटी पर निर्भर करती है.

Public charging station को शुरू करने के लिए 33/11 किलोवोल्ट (KV) की सपरेट लाइन होना जरूरी है.

EV charging station business के तहत EV charger के प्रकार-

EV charging station business के तहत वाहनों को चार्ज करने के लिए मौजूदा बाजार में मुख्य रूप से 03 तरह के चार्जर देखने को मिलते हैं. जो AC Charger (Alternate Current Charger) और DC Charger (Direct Current Charger) – AC व DC अलग-अलग तरह की बिजली पर काम करते हैं. आइये जानते हैं- कौन सा चार्जर किस तरह की बिजली पर काम करता है-

लेवल 1 चार्जर (धीमी चार्जिंग- Low Speed Charger)-

यह धीमी गति के साथ बुनियादी चार्जिंग उपकरण है। यह एक अल्टरनेटिंग करंट (AC) प्लग के माध्यम से 120 वोल्ट (Volt) का उपयोग करता है और इसे घर पर (home circuit) आसानी से इस्तेमाल किया जाता है। इस उपकरण के जरिए वाहन की एक बैटरी को चार्ज होने में तक़रीबन 08 से 12 घंटे का समय लग जाते हैं.

मुख्य रूप से इस EV charger से बैट्ररी को चार्ज करने के लिए रात भर on करके छोड़ दिया जाता है. Bharat AC001 (10 KW) – (कीमत- 40,000 प्रति इकाई से शुरू)और Bharat DC001 (15KW) (कीमत- 2.5 लाख प्रति इकाई से शुरू) एक Low Speed Electric Vehicle Charger है. जिसका उपयोग भारत में निर्मित किसी भी EV को चार्ज करने के लिए किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- कैसे शुरू करें टायर वेस्ट रीसायकल व्यवसाय

लेवल 2 चार्जर (फ़ास्ट चार्जिंग- Fast Charger)-

फ़ास्ट चार्जर AC कनेक्शन प्लग के माध्यम 220-240 वोल्ट (Volt) और 200 से 450 वोल्ट DC पर संचालित होता है, जो वाहनों की एक बैट्ररी को औसतन 03 से 06 घंटे के अन्दर पूरा चार्ज कर देता है. फ़ास्ट चार्जर की प्लग पिन्स से हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वाहनों सहित सभी इलेक्ट्रिक वाहनों को आसानी से चार्ज किया जा सकता है.

इस चार्जर का उपयोग कमर्शियल चार्जिंग स्टेशन पर किया जा सकता है. इस चार्जर का उपयोग अधिकतर सार्वजनिक पार्किंग स्थलों, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों के साथ व्यक्तिगत अथवा कमर्शियल आवासों में किया जा सकता है. लेवल 2 के तहत आने वाले चार्जर हैं-

  1. CCS (50 KW) (कीमत- 12.5 लाख रूपये प्रति इकाई से शुरू)
  2. CHAdeMO (50 KW) (कीमत- 11.94 लाख रुपये प्रति इकाई से शुरू)
  3. TYPE-2 AC (22 KWh) (कीमत- 72,000 रूपये प्रति इकाई से शुरू)
Types-of-EV-chargers

लेवल 3 चार्जर (झटपट चार्जिंग- Rapid Charger)-

लेवल 3 चार्जर पूरी तरह से DC पर काम करता है और यह प्रत्येक वाहन के लिए एकल (separate) होता है. मौजूदा समय में भारत में इसकी कोई भी डिमांड नहीं है. लेवल 3 का चार्जर का इस्तेमाल Tesla, Rolls Royce जैसी नामी अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड अपने वाहनों के लिए कर रही हैं.

जो काफी महंगे ब्रांड हैं, फ़िलहाल भारत की मार्केट में अभी तक लेवल 3 चार्जर का इस्तेमाल नहीं हो रहा है और यदि हो भी रहा है तो बहुत ही सीमित दायरे में है.

लेवल 3 का चार्जर 480 वोल्ट (Volt) Direct Current (DC) प्लग का उपयोग करके 20-30 मिनट में बैटरी को 80% तक चार्ज कर सकता है. लेवल 3 का चार्जर सभी इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अनुकूल नहीं है। लेवल 3 के चार्जर को सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों में ही स्थापित कर उपयोग में लिया जा सकता है.

Public ev charging station पर कौन-कौन से वाहनों को चार्ज किया जा सकता है?

1. दो पहिया वाहन (Two wheeler vehicles) – मोटर साइकिल (bike) और स्कूटर/स्कूटी
3. तीन पहिया वाहन (Three wheeler vehicles) – ऑटो रिक्सा
4. चार पहिया वाहन (Four wheeler vehicles) – कार और छोटे ट्रांसपोर्ट वाहन

सुझाव-

  1. भारत में Electric Vehicle (EV) कार जिन्हें 11 KWh से 90 KWh इलेक्ट्रिक कैपेसिटी की जरूरत होती है.
  2. सभी इलेक्ट्रिक वहिकल्स (EV) को लेवल 1 और लेवल 2 के चार्जरों से आसानी चार्ज किया जा सकता है.

पब्लिक चार्जिंग स्टेशन व्यवसाय स्थापित करने की कुल संभावित लागत (Estimated Cost for Starting Public EV Charging Station)-

व्यवसाय की दृष्टी से EV Charging Station Business को स्थापित करने के लिए चयनित स्थान पर लगने वाली लागत के साथ चार्जर की भी लागत लगती है. सरकारी दिशा निर्देशों के अनुसार, सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशनों में कम से कम तीन फास्ट (DC) चार्जर और दो धीमे (AC) चार्जर होने चाहिए.

EV Charging Station Business को स्थापित करने के लिए संभावित लागत(in lakh)
1चयनित स्थान की लागत (विवरण ऊपर देखें)₹ 11.60
2स्टेशन पर लगने वाले चार्जर की लागत (लेवल 2 चार्जर – CCS (50 KW)+ CHAdeMO (50 KW)+ TYPE-2 AC (22 KW) (विवरण ऊपर देखें)₹ 26.22
3लेवल 1 चार्जर की लागत (Bharat AC001 (10 KW) + Bharat DC001 (15KW))₹ 2.90
कुल लागत₹ 40.72

नोट- उपरोक्त बताई गई सभी लागत धनराशी संभावित हैं, जमीनी स्तर पर इसमें बदलाव हो सकता है.

व्यवसाय का पंजीकरण (Business Registration)-

भारत सरकार द्वारा Electric Vehicle Public Charging Station Business को स्थापित कर शुरू करने के लिए कोई भी मानक पंजीकरण प्रत्यक्ष रूप से निर्धारित नहीं किया है. इसका मतलब EV Charging Station Business को शुरू करने के लिए किसी भी पंजीकरण की आवश्यकता नहीं होती है.

लेकिन जहां EV Public Charging Station स्थापित किया जाना है वहां के स्थानीय नगर निगम से स्वीकृति (permission) लेना, fire control certificate के साथ पार्किंग एरिया की अनुमति (NOC) लेना अनिवार्य है.

इसे भी पढ़ें- कैसे शुरू करें सिगरेट वेस्ट रीसायकल व्यवसाय

Public EV Charging Station Business को स्थापित करने के लिए सरकारी दिशा निर्देश-

भारत में पब्लिक चार्जिंग स्टेशनों को स्थापित करने के संबंध में केंद्र सरकार द्वारा निम्नलिखित दिशा निर्देश जारी किए गए हैं-

  1. भारत सरकार ने भारी वाहनों के लिए शहरों में हर 3 किलोमीटर, राजमार्ग पर 25 किलोमीटर और राजमार्गों पर 100 किलोमीटर पर पब्लिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित करना अनिवार्य कर दिया है.
  2. भारत सरकार ने ऊर्जा मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए किसी भी व्यक्ति के लिए भारत में पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए इसे लाइसेंस-मुक्त कर दिया है। पब्लिक चार्जिंग स्टेशन की स्थापना के लिए ढांचागत आवश्यकताएं.

सार्वजानिक/ ईवी पब्लिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए निम्नलिखित बुनियादी ढांचे की आवश्यकता है-

  • ट्रांसफार्मर, सब-स्टेशन उपकरण और सुरक्षा उपकरण की स्थापना.
  • लाइन और मीटर के लिए 33/11 kilo Volt केबल और संबद्ध उपकरण.
  • चयनित स्थान पर सिविल सम्बन्धी से समस्त कार्य की दुरुस्त व्यवस्था का होना.
  • वाहनों को चार्ज करने और वाहनों के प्रवेश या निकास के लिए भूमि स्थान/पार्किंग की व्यवस्था.
  • स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय मानकों द्वारा अनुमोदित सभी चार्जर मॉडल की स्थापना.

भारत में Electrical Vehicles (EV) Public Charging Station Business Providing Franchise-

भारत में ईवी पब्लिक चार्जिंग स्टेशनों के लिए सेवाएं प्रदान करने वाली कुछ कंपनियां हैं-

  1. Volttie – Noida
  2. PlugNGo – Noida
  3. Exicom Power System – Gurgaon
  4. Charge My Gaddi – Delhi
  5. Charge + Zone – Vadodara
  6. EVQ Point – Bengaluru
  7. Tata Power – Mumbai
  8. Dyna Hi-tech Power Systems – Navi Mumbai
  9. Fortum India
  10. ACME

Public Charging Station Business की Franchise लेने के लिए क्या-क्या requirement होती है?

भारत में Public EV Charging Station Business की Franchise लेने के लिए सभी service providing कंपनियों के अलग-अलग मापदंड व अलग-अलग सुविधा शुल्क (Fees) हैं. कुछ मापदंड जो अनिवार्य हैं, वह इस प्रकार हैं-

1. इच्छुक उद्यमी भारत का नागरिक हो तथा उद्यमी बालिग (25 वर्ष से ऊपर) हो, साथ ही इच्छुक उद्यमी को साक्षर (कम से कम ग्रेजुएट) हो.
2. उद्यमी के पास उसका राजपत्रित व बैंकिंग पहचान पत्र (आधारकार्ड, पैनकार्ड, वोटर आई.डी. कार्ड व बैंक पासबुक आदि) हो.
3. जिस स्थान/जगह पर ev charging station स्थापित किया जाना है, उसका मालिकाना प्रमाण पत्र अथवा यदि किराये की जगह है तो किराये का करारनामा उपलब्ध कराना होता है.
4. स्थानीय प्राधिकरण (local authorities) से NOC (No Objection Certificate) उपलब्ध कराना.

इसके अलावा प्रत्येक कंपनी से और अन्य भी मापदंड हो सकते हैं, जिसकी जानकारी के लिए आप सम्बंधित कंपनी की ऑफिसियल वेबसाईट के contact पेज से संपर्क कर सकते हैं.

पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन बिजनेस स्थापित करने के लाभ (Benefits of setting up a public EV charging station business)-

ईवी पब्लिक चार्जिंग स्टेशन बिजनेस को स्थापित करने से यह इच्छुक उद्यमी को कई तरह से लाभ प्रदान करता है. मसलन-

  1. आज हमारा देश भारत! इलेक्ट्रॉनिक वाहनों/उत्पादों के युग की ओर बढ़ता जा रहा है। आने वाले वर्षों में, जैविक/खनिज ईंधन से चलने वाले वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों से बदलना जरूरी हो जाएगा. इस तथ्य से साबित हो रहा है कि भविष्य में पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशनों की मांग बहुत ही तीव्र होने वाली है, जो कि बड़े मुनाफे को इंगित कर रही है.
  2. भारत में पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन का कारोबार स्थापित करने के लिए केंद्र व राज्य सरकार विभिन्न योजनाएं और सब्सिडी की सेवा भी प्रदान कर रही है.
  3. पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन का कारोबार हमारे देश भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए ‘Go Green‘ की पहल है. जिसे अपनाकर हम अपनी पृथ्वी को अतिरिक्त कार्बन उत्सर्जन से मुक्त कर सकते हैं.
  4. जहां एक तरफ पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन का कारोबार दुनिया के वातावरण के लिए लाभकारी है, वहीं दूसरी ओर यह इच्छुक उद्यमी के लिए उच्च मुनाफे का कारोबार भी है.
  5. आईबीएम (IBM) की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर के आधे से अधिक (लगभग 57%) उपभोक्ता अपने पर्यावरणीय प्रभाव को सुधारने के लिए अपनी खरीद-फरोख्त की आदतों को बदलने के इच्छुक हैं. इस तथ्य से भी स्पष्ट हो जाता है कि पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित करना एक मुनाफे का कारोबार होने वाला है.

अंत में-

जैसे-जैसे समय भविष्य की ओर बढ़ रहा है e-mobility क्रांति तेजी से आ रही है. जहां एक तरफ लगभग सभी इलेक्ट्रिक कार/वाहन निर्माता लगातार अपने-अपने इलेक्ट्रिक वाहनों में सुधार करने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीं ज्यादातर smart businessman/कारोबारियों की निगाहें ईवी चार्जिंग स्टेशन इंफ्रास्ट्रक्चर और स्मार्ट चार्जिंग जैसे- स्टार्टअप की ओर जमी हुई हैं, क्योंकि e-mobility हमारे आने वाले भविष्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनने वाला है जो फिलहाल अभी काफी धीमी गति से विकसित हो रहा है.

एक सदाबहार चलने वाला बिजनेस स्थापित करना हमेशा ही सबसे अच्छे विकल्पों में से एक होता है जिससे लम्बे समय तक अच्छा मुनाफा भी कमाया जा सकता है.

हमारा उद्देश्य उन इच्छुक उम्मीदवारों, उद्यमियों, व्यवसायियों, व्यापारियों और कारोबारियों को बेहतर से बेहतर जानकारी प्रदान करना है, जो पब्लिक ev चार्जिंग स्टेशन के व्यवसाय/उद्यम को करने के इच्छुक हैं और इस व्यवसाय में अपना भविष्य में देख रहे हैं.

नोट- किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले बाजार/मार्केट रिसर्च एवं खपत का आंकलन अनिवार्य रूप से अवश्य करें। ऐसा करने से आपको व्यवसाय में आने वाले जोखिम और दिक्कतों का सामना करने में आसानी हो जाएगी और बाजार में डिमांड के अनुरूप आप अपने business को अच्छे से संचालित कर पाएंगे।

आशा है आपको इस लेख “इलेक्ट्रिक वाहन पब्लिक चार्जिंग स्टेशन बिज़नेस कैसे शुरू करें” से Electric Vehicle के कारोबार से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें।

अगर यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों और जरूरतमंदों के साथ share करना न भूलें. आपका एक share किसी को उसके भविष्य की नई दिशा दिखा सकता है. अभी तक के लिए इतना ही-

“शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल व्यापारिक भविष्य के लिए।”

धन्यवाद!

जय हिंद! जय भारत!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular