रीसायकल बिजनेसप्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें | Plastic Waste Recycling Business...

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें | Plastic Waste Recycling Business in hindi

Waste Recycle व्यवसाय की संभावनाएं, प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय, plastic waste recycling business ideas, plastic recycling process & manpower, plastic recycling business cost, plastic recycling business profit, plastic recycling business in hindi

आज हम जिस वर्तमान दुनिया में रहते हैं, वह अरबों प्लास्टिक उत्पादों से घिरी हुई है। हम जितनी चीजों का उपयोग करते हैं, उनमें से अधिकांश प्लास्टिक से बनी हैं, जो प्लास्टिक के महत्व को भी दर्शाती है। मौलिक तौर पर कहा जाए तो समय बीतने के साथ हर एक चीज पुरानी व निष्प्रयोज्य ही रह जाती है यह बात प्लास्टिक जैसे लंबी आयु वाले संयोजन पर भी लागू होती है।

पिछली 19वीं सदी की शुरुआत से अब तक हम इन्सानों ने लाखों टन प्लास्टिक कचरा पैदा किया है। जिसके परिणामस्वरूप पृथ्वी के वायु, जल व स्थलमंडल पर प्रदूषण में तीव्र वृद्धि हुई है। ग्लोबल वार्मिंग जैसी प्रकृतिक आपदाओं में प्लास्टिक आज महत्वपूर्ण योगदानकर्ताओं में से एक सिद्ध हो चुका है।

साथ ही प्लास्टिक द्वारा उत्पन्न प्रदूषण, समाज और मानव स्वास्थ्य के लिए भी खतरा बन चुका है। जिसका प्राथमिकता पर समय से निपटान किया जाना अनिवार्य हो चुका है।

प्लास्टिक-रीसायकल-व्यवसाय-plastic-recycling-busines

जिस कारण वेस्ट प्लास्टिक पुनर्नवीनीकरण के व्यवसाय (Plastic Waste Recycling Business) को लगाना एक उभरते हुए उद्यमी को अच्छा अवसर प्रदान कर सकता है। साथ ही यदि प्लास्टिक पुनर्नवीनीकरण व्यवसाय व्यवस्थित योजना के साथ किया जाए तो प्लास्टिक वेस्ट की रीसाइक्लिंग (Plastic Waste Recycling) का व्यवसाय एक अच्छा और लाभदायक कारोबार विकल्प भी सिद्ध हो सकता है।

इस लेख के माध्यम से हम आपके साथ “प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें” की विस्तृत जानकारी साझा करने जा रहे हैं। यदि आप पुनर्नवीनीकरण के व्यवसाय (recycling business) में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो पूरा लेख जरूर पढ़ें-

Waste Recycling व्यवसाय की संभावनाएं एवं अवसर-

आज जिस तरह से प्रत्येक क्षेत्र में मानव निर्मित कचरे की बढ़ोत्तरी हो रही है, इसको देखते हुए इसका निपटान किया जाना प्राथमिक और अनिवार्य हो चुका है, जहां तक कचरे कि बात करें तो किसी भी कचरे का निपटान करने के लिए 02 विकल्पों की संभावना हो सकती है-

  1. कचरे को पूर्ण रूप से नष्ट (जलाकर या जमीन में दबाकर) कर दिया जाए, जिससे पर्यावरण दूषित होगा।
  2. कचरे का पुनर्नवीनीकरण (Recycle) कर पुनः उपयोग हेतु बनाया जाए, जिससे पर्यावरण को दूषित होने से बचाया जा सके।

इसे भी पढ़ें- टायर वेस्ट रिसायकल व्यवसाय

हमारी सहज समझ दूसरे विकल्प का ही चुनाव करेगी। तो इसका मतलब यह है कि Waste Recycling का व्यवसाय शुरू करना एक लाभ का कारोबार सिद्ध हो सकता है। साथ ही बदलते समय के साथ पुनर्नवीनीकरण व्यवसाय को शुरू करने की आवश्यकता भी है क्योंकि अगर समय से कचरे को रिसायकल अथवा निपटान नहीं किया गया तो पृथ्वी जहां हम रहते हैं उसका विनाश होना निश्चित है और जिसके जिम्मेदार हम खुद होंगे।

वहीं दूसरी ओर अगर हम इस कचरे का पुनर्नवीनीकरण (Recycling) समय से करते हैं तो यह Recycling व्यवसाय हमें एक अच्छा मुनाफा भी दे सकता है, आज बहुत ही कम लोग है जो जानते कि कचरा भी कमाई का जरिया हो सकता है। अगर आप प्लास्टिक रीसायकल व्यवसाय को शुरू करना या इसके बारे विस्तृत जानकारी पाना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

प्लास्टिक-वेस्ट-रीसायकल-व्यवसाय-plastic-waste-recycling-business

इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको “प्लास्टिक रीसायकल व्यवसाय को कैसे शुरू करें?” की पूरी जानकारी साझा करने जा रहे हैं- जहां आपको इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए कौन-कौन से घटको व मशीनरी जैसे-रॉ मटेरियल, पंजीकरण, लागत, मुनाफा और स्थान आदि की पूरी जानकारी दी जाएगी। तो चलिये भविष्य के उभरते व्यवसाय की चर्चा शुरू करते हैं, सबसे पहले जानते हैं कि

प्लास्टिक कितने तरह का होता है?

प्लास्टिक मुख्य रूप से 02 तरह का होता है-
1. थर्मोप्लास्टिक्स
2. थर्मोसेट्स

आइये जानते हैं विभिन्न तरह के प्लास्टिक (Different Types of Plastics) के बारे में-

थर्मोप्लास्टिक्स (Thermoplastics)-

  1. PETE: Polyethylene Terephthalate (बोतलें, फिल्म, खाद्य पैकेजिंग, शीतल पेय की बोतलें, सिंथेटिक इन्सुलेशन और खाना पकाने के तेल पैकेजिंग)
  2. HDPE: High-Density Polyethylene (कंटेनर, खिलौने, घरेलू सामान, औद्योगिक रैपिंग और फिल्म, गैस पाइप)
  3. LDPE: Low-Density Polyethylene (फिल्म, बैग, खिलौने, कोटिंग्स, कंटेनर, पाइप, केबल इन्सुलेशन)
  4. PVC: Polyvinyl Chloride (खिड़की के फ्रेम, पाइप, फर्श, वॉलपेपर, बोतलें, क्लिंग फिल्म, खिलौने, गटरिंग, केबल इन्सुलेशन, क्रेडिट कार्ड, पाइपिंग (प्लंबिंग) और चिकित्सा उत्पाद)
  5. PP: Polypropylene (फिल्म, बैटरी केस, माइक्रोवेव कंटेनर, क्रेट, कार के पुर्जे, बिजली के पुर्जे, प्लास्टिक स्ट्रॉ, दवा की बोतलें और मसालों की बोतलें)
  6. PS: Polystyrene (styrofoam) (विद्युत उपकरण, थर्मल इन्सुलेशन, टेप कैसेट, कप, प्लेट और प्लास्टिक के बर्तन)
  7. Polyamide: तेल, पनीर और बैग-इन-द-बैग उत्पादों जैसे खाद्य पदार्थों/उत्पाद की पैकेजिंग और उच्च तापमान इंजीनियरिंग अनुप्रयोगों के लिए फिल्में.
  8. Polymethyl methacrylate (PMMA): सामान्य उपकरण मोल्डिंग

थर्मोसेटिंग प्लास्टिक (Thermosetting)-

  1. Epoxy resins: चिपकने वाले, कार घटक, घटक, खेल उपकरण, नावें
  2. Polyurethane: चिपकने वाले, उपकरण, कार के पुर्जे, बिजली के घटक, ट्रेनर तलवों, फर्नीचर फोम
  3. Phenolic (phenol formaldehyde, urea formaldehyde): चिपकने वाले, उपकरण, कार के पुर्जे, विद्युत
  4. Furan Resins: टिकाऊ जैव मिश्रित निर्माण , सीमेंट, एडहेसिव, कोटिंग्स और कास्टिंग/फाउंड्री रेजिन का निर्माण।

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक स्थान-

Waste plastic recycling plant या कारोबार शुरू करने के लिए कम से कम 2,000 वर्ग फुट स्थान या जगह की जरूरत होती है, जहां प्लांट कम से कम 1,500 वर्ग फुट क्षेत्र (Area) पूरी तरह से धूल, बारिस, मिट्टी व प्रदूषण से ढका (Covered) या संरक्षित होना चाहिए।

साथ ही प्लांट में मशीनों के स्थान ऐसे निर्धारित किए गए हों जिससे कर्मचारियों को काम करने एवं कच्चा व तैयार माल सुरक्षित रखने में असुविधा न हो। इस स्थान पर बिजली आदि की उचित व्यवस्था का होना अनिवार्य है।

सुझाव-

आपको प्लास्टिक पुनरचक्रीकरण (Plastic waste recycling) व्यवसाय शुरू करने के लिए ऐसे स्थान का चुनाव करना चाहिए, जहां से रॉ मटेरियल या कच्चा माल लगातार व आसानी से मिल सकता हो। साथ ही आपके प्लांट स्थान पर transportation संबंधी आवागमन (क्रय-विक्रय आदि) की उचित व्यवस्था होनी आवश्यक है। यह स्थान अगर किसी व्यवसायिक क्षेत्रों के अंतर्गत आता है तो सबसे उत्तम है।

इसे भी पढ़ें- एसिड स्लरी बनाने का व्यवसाय

स्थान पर बिजली आपूर्ति व आवश्यक उपकरण-

Plastic waste recycling व्यवसाय में मशीनों आदि के सुगम संचालन के लिए कम से कम 20 से 30 किलोवॉट क्षमता के बिजली कनेक्शन की अवश्यकता होती है। यह क्षमता मशीनों के चयन आधार पर भी सुनिश्चित की जा सकती है, साथ ही प्लांट में बिजली को नियंत्रित व पर्याप्त आपूर्ति के लिए नीचे बताए गए उपकरणों का होना जरूरी है-

  1. Electrical Power Panel- (कीमत- 50 हजार से शुरू)
  2. DG Set Control Panel- (कीमत- 50 हजार से शुरू)
  3. Electric Generator- (कीमत- 90 हजार से शुरू)

कहां से खरीदें-

उपरोक्त पैनल्स को आप अपने लोकल मार्केट से बनवा या खरीद सकते/सकती हैं यदि आपके लोकल बाजार में यह पैनल नहीं मिल पा रहे हैं तो इसे आप ऑनलाइन भी नीचे दी गई वेबसाइटस से खरीद सकते हैं-

  1. www.indiamart.com
  2. www.alibaba.com या फिर आप जिसे जानते हैं वहाँ से ऑर्डर देकर बनवा सकते हैं।

नोट- उपरोक्त बताए गए उपकरणों की कीमत बाजार उतार-चढ़ाव के कारण घट-बढ़ सकती है।

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल के लिए कच्चा माल कहां से लें (Raw Material)-

Plastic waste recycling business या प्लास्टिक पुनर्नवीनीकरण (रीसायकल) व्यवसाय शुरू करने के लिए हमें एक ही कच्चे माल या रॉ मटेरियल की आवश्यकता होती है। यह कच्चा माल है- प्लास्टिक.

मसलन प्लास्टिक से बने उत्पाद जैसे- प्लास्टिक थैले, कैरी बैग, ई-वेस्ट से निकलने वाला प्लास्टिक कचरा, घरेलू  प्लास्टिक वेस्ट जैसे- स्विच, सॉकेट प्लग्स के साथ पॉलीथिन, प्लास्टिक डिब्बे व प्लास्टिक कैरी बैग तथा पैकिंग आदि हो सकते है।

आप चाहे तो वेस्ट प्लास्टिक हेतु कच्चे माल की पूर्ति के लिए मैनपावर लगाकर घरों, दुकानों व कूड़ा छटाई केन्द्रों (कबाड़ केन्द्रों) से एकत्र/कलेक्ट भी करवाया जा सकता है। कच्चे माल के रूप में लिया जाने वाला पुराना प्लास्टिक वेस्ट लगभग सस्ते भाव में आसानी से खरीदा/मिल जाता है।

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल के लिए मशीनरी (plastic recycling machine)-

प्लास्टिक अपशिष्ट निपटान अथवा प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय शुरू करने के लिए हमें …. मशीनों की जरूरत होती है, ये मशीनें है-

  1. Plastic Recycle Dust Cleaner Machine- (कीमत- 01 लाख रुपए से शुरू)
  2. Plastic Scrap Grinder/Shredder Machine- (कीमत- 1.25 लाख रुपए से शुरू)
  3. Washing Machine- (कीमत- 02 लाख रुपए से शुरू)
  4. Dryer Machine- (कीमत- 95,000 रुपए से शुरू)
  5. Agglomerator Machine – (कीमत- 1.50 लाख रुपए से शुरू)
  6. Plastic Granules/दाना बनाने की मशीन- (कीमत- 05 लाख रुपए से शुरू)
  7. प्लास्टिक दाना काटने (Cutter) की मशीन- (कीमत- 55,000 रुपए से शुरू)

नोट- 

  • उपरोक्त बताई गई मशीनें ऑटोमेटिक व सेमी ऑटोमेटिक वेरियंट एवं अलग-अलग क्षमता की आती हैं, साथ ही इन मशीनों का चुनाव आप व्यवसाय की उत्पादन कार्यक्षमता के आधार पर ही करें।
  • उपरोक्त बताई गई मशीनों की कीमत बाजार उतार-चढ़ाव के कारण घट-बढ़ सकती है।

इसे भी पढ़ें- आटे का व्यवसाय कैसे शुरू करें

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय स्थापित करने के लिए मशीनरी कहां से खरीदें-

उपरोक्त मशीनरी को आप अपने लोकल मार्केट से ले अथवा बनवा सकते हैं यदि लोकल बाजार में यह मशीने नहीं मिल पा रही हैं तो इसे आप ऑनलाइन नीचे दी गई वेबसाइटस से खरीद सकते हैं-

  1.  www.indiamart.com
  2. www.alibaba.com या फिर
  3. आप जिसे जानते हैं वहाँ से ऑर्डर दे सकते हैं।

प्लास्टिक कचरे की छटाई करना-

अमूमन प्लास्टिक कचरे में प्लास्टिक के अलावा कई और चीजें भी शामिल होती हैं जिसकी छटाई किया जाना बेहद जरूरी होता है, क्योंकि मशीनें प्लास्टिक को प्रोसेस करने के लिए बनी होती हैं, यदि व्यापक तौर पर प्लास्टिक कचरे की छटाई न की जाए तो मशीनों की कार्य क्षमता पर प्रभाव पड़ता है साथ ही मशीनों के पुर्जे खराब भी हो सकते हैं। जिससे आपका मशीन मेंटेनस खर्च भी बढ़ सकता है।

रीसायकल उत्पाद तैयार करने की विधि (plastic recycling process)-

प्लास्टिक कचरे अथवा प्लास्टिक वेस्ट को रिसाइक्लिंग करने का काम —- में पूरा किया जाता है-

प्रथम चरण-

वेस्ट प्लास्टिक रीसायकल प्रोसेस को शुरू करने के लिए सबसे पहले रीसायकल के लिए लाये गए कच्चे माल या रॉ मटेरियल की छटाई के बाद Plastic Dust Cleaner Machine में डालकर कच्चे माल की सफाई व डिटर्जेंट आदि से धुलाई की जाती है। इस काम को करने में 02 मैनपावर की जरूरत पड़ती है।

दूसरा चरण-

धूल व गंदगी साफ हो जाने के बाद दूसरे चरण में रीसायकल होने वाले वेस्ट प्लास्टिक को Plastic Scrap Grinder/Shredder Machine की मदद से छोटे-छोटे टुकड़ों में एक समान काट लिया जाता है। इस मशीन को आपरेट करने में कम से कम 02 मैनपावर की जरूरत पड़ती है।

तीसरा चरण-

इस कटे हुए प्लास्टिक पूरी तरह से साफ व स्वच्छ बनाने के लिए Washing Machine से अच्छे से धुला जाता है, (धुलाई के लिए लिक्विड डिटर्जेंट व डिटर्जेंट पाउडर का प्रयोग भी कर सकते हैं), मटेरियल के धुल जाने के बाद इस मटेरियल को सुखाने के लिए ड्रायर मशीन की सहायता ली जाती है, जो मटेरियल को पूरी तरह सूखा देता है। इन मशीनों को आपरेट करने में कम से कम 02 मैनपावर की जरूरत पड़ती है।

चौथा चरण-

तीसरे चरण के पूरा हो जाने के बाद मटेरियल को Agglomerator Machine से गुजारा जाता है, जो वेस्ट मटेरियल को पहले से ज्यादा ठीक और व्यवस्थित (fine and organize) कर देता है, यह एक प्राथमिक चरण भी है जिसे करना आवश्यक है। इस मशीन को आपरेट करने में कम से कम 01 मैनपावर की जरूरत पड़ती है।

पांचवां चरण-

चौथे चरण के बाद हमारा रॉ मटेरियल, रीसायकल होने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाता है, अब इस मटेरियल से बाजार में मिलने वाला प्लास्टिक दाना बनाने के लिए Plastic Granules/दाना बनाने की मशीन (Heat Cylinder Machine) के होप्पर में डाला जाता है, जहां यह मशीन प्लास्टिक को पिघला कर दूसरी ओर लगी डाई से बाहर निकलती है।

दाना बनाने वाली मशीन से बाहर निकलते मटेरियल को पानी के टैंक में निकाला जाता है, जिससे मटेरियल ठंडा व पकड़ने योग्य बन सके, इसके बाद इस बने मटेरियल को प्लास्टिक दाना काटने (Cutter) की मशीन से एक निश्चित दाने के आकार में काट लिया जाता है।

प्राप्त प्लास्टिक दाना ही प्लास्टिक पुनर्नवीनीकरण (रीसायकल) उत्पाद है। जिसे खुदरा व थोक/होलसेल बाजार/मार्केट में बेंचा जा सकता है। इस मशीन को आपरेट करने में कम से कम 02 मैनपावर की जरूरत पड़ती है।

नोट- प्लास्टिक वेस्ट रिसाइक्लिंग की प्रोसेस को क्रमवार (एक से दूसरी मशीन तक) पूरा करने के लिए कनवेयर बेल्ट का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय में कर्मचारियों की जरूरत (required manpower)-

अमूमन बड़े स्तर पर प्रत्येक पुनरचक्रीकरण/रीसाइक्लिंग व्यवसाय या किसी भी अन्य व्यवसाय में मैनपावर या कर्मचारियों की जरूरत पड़ती ही है, प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय को शुरू करने में कम से कम 08 से 12 मैनपावर या कर्मचारियों की अवश्यकता होती है। ये कर्मचारी मैनेजर, मार्केटर, लेबर व सफाई कर्मी आदि हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- घर से शुरू करें नेल पॉलिश बिजनेस

प्लास्टिक रीसायकल उत्पाद कहां-कहां बेंच सकते हैं (where to sell)-

रिसाइक्लिंग प्रोसेस से तैयार उत्पाद की जरूरत कई प्लास्टिक क्षेत्र से जुड़ी manufacturing यूनिटों में होती है, चूंकि प्लास्टिक वेस्ट मटेरियल से बना प्लास्टिक रिसाइक्लिंग उत्पाद B2B (Business to Business) लघु उद्योग अंतर्गत आता है, इसलिए रीसाइकल उत्पाद के उपभोक्ता भी अधिकतर प्लास्टिक निर्माण उद्योग क्षेत्र से जुड़े हुए ही होते हैं। ये उपभोक्ता हो सकते हैं-

  1. प्लास्टिक पैकिंग बनाने वाले व्यवसायी/कारोबारी
  2. प्लास्टिक खिलौने बनाने वाले व्यवसायी/कारोबारी
  3. प्लास्टिक से मशीनों व मशीनों के पुर्जे बनाने वाले व्यवसायी/कारोबारी
  4. प्लास्टिक से ग्रह साज-सज्जा आदि का निर्माण करने वाले व्यवसायी/कारोबारी व
  5. प्लास्टिक से मेडिकल संबंधी उपकारणों का निर्माण करने वाले व्यवसायी/कारोबारी
  6. होलसेल व्यवसायी/कारोबारी और आखिर में
  7. बाहर Export करना।

ये कुछ ऐसे उद्योग व क्षेत्र हैं जहां पर रीसायकल प्लास्टिक की मांग हमेशा बनी ही रहती है, जिससे प्लास्टिक पुनर्नवीनीकरण का व्यवसाय (Plastic recycle business) अच्छे व बेहतर तरीके से फल-फूल रहा है। क्योंकि ये ऐसे क्षेत्र हैं जो आज समाज की प्राथमिक जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्तरदायी हैं।

इसे भी देखें- टूथब्रश बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय पर लागत (plastic recycling project cost)-

यदि आप प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो इस व्यवसाय के पूरे setup में कम से कम लगभग 30 से 45 लाख रुपए (GST अलग से) की पूंजी का निवेश करना होगा। यह निवेश ऑटोमेटिक मशीनों, स्थान, कच्चे माल की क्रय दर के अलावा मैनपावर के चयन पर घट अथवा बढ़ भी सकता है।

इसके अलावा यदि आप रीसायकल उत्पादों की मार्केटिंग करना अथवा करवाना चाहते हैं तो लागत में बढ़ोत्तरी संभावित हो सकती है.

सुझाव-   

वेस्ट प्लास्टिक रीसाइक्लिंग व्यवसाय या किसी भी व्यवसाय/कारोबार को शुरू करने या लागत लगाने से पूर्व इच्छुक व नए उभरते हुए उद्यमी, व्यवसायी, व्यापारी व कारोबारी को इन बातों का हमेशा ध्यान रखना चाहिए-

  1. बाजार में उत्पाद की मांग व खपत का आंकलन करना,
  2. कच्चे माल का कीमत व उपलब्धता पर ध्यान देना,
  3. अपने प्रतिस्पर्धी को पहचानना व उसकी कमियों को खोजना
  4. अपने कारोबार के लिए एक बेहतर रणनीति बनाना

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय के लिए लोन (Loan)-

लघु उद्योग को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने मेक इन इण्डिया के तहत प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार योजना (PMRY), कौशल विकास योजनाप्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP) आदि के माध्यम आपको आसानी से ऋण/लोन मिल सकता है. इसके लिए आपको अपनी कंपनी या फर्म के पंजीकरण संख्या से सरकारी योजनाओं के तहत आवेदन करना होगा.

सरकारी योजनाओं के तहत लघु उद्योग हेतु ऋण/लोन लेने के लिए आप अपने क्षेत्रीय सरकारी बैंक की शाखा से आवशयक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय में मुनाफा (Plastic recycling business profit)-

अब बात करते हैं प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय से होने वाले मुनाफे की। सामान्य तौर पर वेस्ट प्लास्टिक पुनर्नवीनीकरण (रिसाइक्लिंग) व्यवसाय में रॉ मटेरियल या कच्चे माल को 10 से 15 रुपए प्रति किलो की दर से खरीदा जाता है।

जिसे मशीनों द्वारा Recycle Process से गुजार कर तैयार उत्पाद (अलग अलग quality का) को 60 से 90 रुपए प्रति किलो की दर अन्य निर्माण कर्ताओं को आसानी बेचा/विक्रय किया जाता है। जहां मुनाफा 40 से 70 रुपए प्रति किलो तक लिया या कमाया जा सकता है। मोटे तौर पर प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय जैसे उद्यम को सफल कारोबार की श्रेणी में गिना जाता है.

नोट- मुनाफा तैयार माल/उत्पाद की गुणवत्ता (Quality) पर निर्भर करता है।

सुझाव-

अपने मुनाफे को बढाने के लिए आप कुछ प्लास्टिक से बने उत्पादों का निर्माण (Plastic Products Manufacturing) भी बड़े स्तर पर कर अथवा करवा सकते हैं, जिसे खुदरा बाजार में आसानी से बिक्री हेतु भेजा जा सकता है. अमूमन आज कई सारे उत्पाद प्लास्टिक से बनाए जाते हैं,

इसे भी पढ़ें- एलईडी लाइटस व्यवसाय कैसे शुरू करें 

इन उत्पादों में से आपको ऐसे product का चुनाव करना होगा जिसका प्रयोग लगभग आज सभी करते हैं और product बनाने में लागत भी कम आती हो। जैसे- किचन अथवा कृषि आदि में प्रयोग होने वाले उत्पाद (products).

प्लास्टिक वेस्ट को ईंधन में बदलना

प्लास्टिक वेस्ट/कचरे को ईंधन (Plastic to fuel) में बदलने की सबसे लोकप्रिय प्रक्रियाओं में से एक को पायरोलिसिस (Pyrolysis) कहा जाता है. इस तकनीक में प्लास्टिक को बहुत अधिक तापमान (380 से 500 डिग्री सेल्सियस पर) ओलीन उत्प्रेरक-Olin Catalyst (एल्युमिनियम एवं सिलिकॉन मिली मिट्टी) के साथ लगभग 08 घंटे गर्म करने की आवश्यकता होती है. यह विधि पर्यावरण के अनुकूल भी है.

FAQ.

सिंगल यूज प्लास्टिक क्या है?

साधारण भाषा में एक बार Use करने के बाद कचरे में फेक (through) दिया जाने वाला प्लास्टिक उत्पाद सिंगल यूज प्लास्टिक कहलाता है. मसलन- डेली use ली जाने वाली प्लास्टिक कैरी बैग/पालीथिन, विभिन्न उत्पादों की रैपर, दूध व अन्य खाद्य पदार्थों के पैकिंग रैपर/पैकिंग आदि.

प्लास्टिक से बढ़ते खतरे को कम कैसे करें?

प्लास्टिक के बढ़ते खतरे को कम करने का सर्वोत्तम उपाय है, प्लास्टिक का पुनरनवीनीकरण (Recycling). प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल से जहाँ एक तरफ नए प्लास्टिक की खपत कम होगी जिससे पर्यावरण की सुरक्षा में हो जाएगी.

वहीँ दूसरी तरफ हमें ऐसे संसाधनों को अपनाना होगा जो प्लास्टिक के स्थान पर अपनी उपयोगिता सिद्द कर सके. जैसे- बांस से बने उत्पाद.

अंत में-

हमारा उद्देश्य उन इच्छुक उम्मीदवारों, व्यवसायियों, व्यापारियों और कारोबारियों को बेहतर से बेहतर जानकारी प्रदान करना है, जो वेस्ट रीसायकल व्यवसाय (Waste Recycle Business) को करने के इच्छुक हैं और इस व्यवसाय में अपना भविष्य में देख रहे हैं.

 नोट- किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले बाजार/मार्केट रिसर्च एवं खपत का आंकलन अनिवार्य रूप से अवश्य करें. ऐसा करने से आपको व्यवसाय में आने वाले जोखिम और दिक्कतों का सामना करने में आसानी हो जाएगी और बाजार में डिमांड के अनुरूप आप अपने products का निर्माण भी अच्छे से कर पाएंगे.

आशा है आपको इस लेख प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें’ से वेस्ट प्लास्टिक recycle business/व्यवसाय, व्यापार व कारोबार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही… यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें. तब तक के लिए-

“शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल व्यापारिक भविष्य के लिए”

धन्यवाद!

जय हिंद! जय भारत!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular