उत्पाद निर्माण2023 में कैसे शुरू करें कील बनाने का व्यवसाय | How to...

2023 में कैसे शुरू करें कील बनाने का व्यवसाय | How to Start Wire Nail Making Business in 2023

Wire Nail Making Business Plan, कील बनाने का उद्योग, कील बनाने वाली मशीन, कील व्यवसाय की संभावनाएं, कील तैयार करने की विधि, कील व्यवसाय की मार्केटिंग, कील व्यवसाय पर लागत व कील व्यवसाय में मुनाफा

यदि आप ऐसे व्यवसाय की खोज में हैं जो हमेशा से सदाबहार बना रहता हो तो आप सही स्थान पर पहुंच चुके हैं. कील एक ऐसा उत्पाद है जिसकी जरूरत आज लगभग हर निर्माण क्षेत्र जैसे- घर, भवन, ऑफिस, इमारतों, फर्नीचर आदि निर्माण उद्यमों/कारोबार क्षेत्रों में होती ही होती है.

उपयोगिता के दृष्टिगत यदि कोई इच्छुक उद्यमी/व्यवसायीय, व्यवसायिक तौर पर कम पूँजी का निवेश कर कील बनाने का व्यवसाय (Wire Nail Making Business) शुरू करता है तो उसके लाभ कमाने की सम्भावना अधिक बढ़ जाती है.

कील-बनाने-का-व्यवसाय-Wire-Nail-Making-Business
कील बनाने का व्यवसाय (Wire Nail Making Business)

अनुक्रमिका

कील व्यवसाय की संभावनाएं (Wire Nail making Business Prospects)-

बढ़ती जनसँख्या के कारण आज जिस तरह से नए-नए घरों, भवनों, ऑफिस इमारतों और फर्नीचर का निर्माण हो रहा है, व्यापारिक दृष्टी से आंकलन करने पर सभी निर्माण कार्य प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से Wire Nail Manufacturing Business को स्थिरता देने के साथ कील बनाने के व्यवसाय को उच्चतम शिखर पर भी पहुचाने में मदद कर रहे हैं.

कील विनिर्माण के इन तथ्यों व उपलब्धियों को देखते हुए यह कहना बिल्कुल सटीक है कि कील बनाने का व्यवसाय शुरू करना एक लम्बे समय का लाभ देने वाला विकल्प है.

तो अब प्रश्न उठता है कि जो इच्छुक उद्यमी/व्यवसायीय इस कील बनाने के कारोबार को शुरू करना चाहता है, उसे इस Wire Nail Making plant को शुरू अथवा स्थापित करने के लिए कितने स्थान की जरूरत के साथ-साथ किन-किन चीजों, मशीनों, रॉ मटेरियल व घटकों की आवश्यकता होगी?

इन प्रश्नों को विस्तार से जानने के लिए आज हम आपके साथ Wire Nail Making Business Plan की विस्तृत जानकारी साझा करने जा रहे हैं.

पोस्ट के अंतिम तक आपके पास कील बनाने के व्यवसाय से सम्बंधित समस्त जानकारी होगी, इस जानकारी का इस्तेमाल कर आप अपना कील बनाने का व्यवसाय/कारोबार (Wire Nail Making Business) आसानी से शुरू कर सकते हैं. तो चलिए शुरू करते हैं-

कील व्यवसाय के लिए रॉ मटेरियल (Raw Material in Wire Nail making Business)-

कीलों का निर्माण करने के लिए बस एक ही रॉ मटेरियल की आवश्यकता होती है और वह है- लोहे या स्टील के wire मतलब तार. अमूमन Wire Nails Making Business के अंतर्गत कच्चे माल के रूप में लिया जाने वाला वायर/तार बाजार में आसानी से मिल जाता है.

यह तार अलग-अलग मोटाई का बाजार में उपलब्ध होता है. इच्छुक व्यवसायीय/उद्यमी इच्छानुसार चयन कर मार्केट से वायर/तार खरीद सकता है.  वायर के साथ नीचे दी गई अन्य मटेरियल की भी जरूरत होती है-

  1. 8 से 30 गेज की तार (वायर) (कीमत- 50 हजार रूपए प्रति टन से शुरू)
  2. लकड़ी का बुरादा (पोलिशिग के लिए)
  3. पैकिंग मटेरियल (कागज़ डिब्बे व पोलीथिन)

कील व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक मशीनरी (Required Machinery in Wire Nail making Business)-

Wire Nails Manufacturing Business अंतर्गत तारों से कील बनाने अथवा कील बनाने की फैक्ट्री स्थापित करने के लिए अलग-अलग क्षमता की मशीनों को उपयोग में लिया जाता है. मसलन- यदि इच्छुक व्यवसायीय/उद्यमी आधे(1/2) इंच से 03 इंच तक की कील का निर्माण करना चाहता है तो उसे 03 नंबर की मशीन लेनी होगी. कील बनाने के व्यवसाय में मशीने नंबर आधारित मार्केट में मिलती है.

जैसे- आधे (1/2) से 02 इंच कील निर्माण के लिए 02 नंबर मशीन, आधे (1/2) से 03 इंच कील निर्माण के लिए 03 नंबर मशीन इसी प्रकार 04 इंच से लेकर 10 इंच तक की कील निर्माण के लिए नंबर आधारित मशीन का चुनाव किया जाता है. कील बनाने के कारोबार में कुल 03 मशीनों और एक wire stand की जरूरत होती है. यह इस प्रकार है-

  1. Nails Making Machine with dye-3 HP (कीमत- 2.5 लाख रूपए से शुरू)
  2. Tool Grinder Machine (कीमत-  55 हजार रूपए से शुरू)
  3. Polishing Machine (कीमत- 60 हजार रूपए से शुरू)
  4. Wire Stand (कीमत-  07 हजार रूपए से शुरू)

नोट- उपरोक्त मटेरियल व मशीनरी की बताई गई कीमतें मार्केट रिसर्च के आधार पर हैं, बाजार के उतार-चढ़ाव के कारण ये कीमतें घट अथवा बढ़ सकती हैं.

कहां से लें (Where to buy)-

Nail making business plan अंतर्गत कील बनाने में लिया जाना वाला कच्चा माल/रॉ मटेरियल व मशीनरी आपको इंडस्ट्रियल क्षेत्रों जैसे कानपुर, गाजियाबाद, लुधियाना, दिल्‍ली, मुंबई, इंदौर, गुजरात आदि बड़े शहरों से मिल जाता है. इसके साथ इसे ऑनलाइन भी आसानी से ले सकते है. ऑनलाइन खरीदने के लिए नीचे दी गई वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं-

  1. www.indiamart.com 
  2. www.alibaba.com
  3. www.tradeindia.com

सुझाव (Suggestion)-

असल में कील व्यवसाय (nail making business) को शुरू करने से पहले आपको कील बनाने में प्रयुक्त होने वाले कच्चे माल की गुणवत्ता की पहचान करनी आनी चाहिए. मटेरियल की जानकारी के लिए आप पहले से संचालित किसी कंपनी अथवा फैक्ट्री पर जाकर अच्छे से जानकारी हांसिल करें, क्योंकि कील बनाने का कारोबार पूरी तरह से मटेरियल आधारित होता है.

कील तैयार करने की विधि (Process of Wire Nail Making)-

कच्चे माल wire/तार से तैयार कील बनाने की पूरी प्रक्रिया ऑटोमेटिक मशीनों के माध्यम से पूर्ण होती है. सबसे पहले कील बनाने वाले तार को wire stand पर स्थापित कर तार के एक सिरे को कील बनाने वाली मशीन में डाल दिया जाता है जहां कील बनाने वाली मशीन, मशीन में लगी डाई के अनुसार ऑटोमेटिक कील बनाकर तैयार कर देती है.

प्रारम्भिक अवस्था में कील तैयार हो जाने के बाद अगले चरण में कीलों पर लगी गंदिगी व रस्ट आदि को हटाने तथा भविष्य में जंग लगने से बचाने के लिए एवं कीलों पर चमक लाने के लिए तैयार कीलों को Polishing Machine में डाला जाता है.

जहां Polishing Machine में पहले लकड़ी के बुरादे को भरना होता है इसके बाद ही कीलों को मशीन में भरकर कीलों की पोलिशिंग की जाती है. कीलों की पोलिशिंग हो जाने के बाद तैयार कीलों को पैकिंग के लिए भेज दिया जाता है.

Wire Nails Making में 03 hp की 03 नंबर मशीन एक मिनट में 300 से अधिक कील बनाती है. यदि सामान्य working hours के तौर पर रोजाना 08 घंटे भी मशीन का संचालन किया जाए तो एक दिन में लगभग 500 से 700 किलो तक कीलों का निर्माण आसानी से किया जा सकता है.

नोट- कील बनाने वाली मशीन में लगी डाई पर पैनी धार का होना प्राथमिक अनिवार्यता है, चूंकि तार (कीलों) को काटने में पैनी धार में विकृतियां आती ही रहती हैं, जिसे दूर करने के लिए Tool Grinder Machine का उपयोग किया जाता है.

कीलों की पैकिंग (Nails Packaging)-

कील बन जाने के बाद बारी आती है कीलों की पैकिंग की. बाजार में बिक्री आधार पर कीलों को अलग-अलग भार क्षमता के अनुसार पैक किया जाता है.

अमूमन होलसेल व रिटेल बाजार के लिए 250 ग्राम से लेकर 50 किलोग्राम व मांग अनुसार भार क्षमता की पैकिंग पोलीथिन, कागज़ व प्लास्टिक डिब्बों में की जाती है. साथ ही पैकिंग कर पर कंपनी का नाम, लोगो, पता और पंजीकरण संख्या को भी छपवाना होता है.

कील व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक स्थान (Required Area to start Wire Nail making Business)-

Wire Nails making business (व्यवसाय) अथवा फैक्ट्री शुरू करने के लिए कम से कम 1,000 वर्ग फुट स्थान/जगह की आवश्यकता होती है, जहां प्लांट कम से कम 800 वर्ग फुट क्षेत्र (Area) पूरी तरह से धूल, बारिस, मिट्टी व प्रदूषण से ढका (Covered) या संरक्षित होना जरूरी है. 

साथ ही प्लांट में मशीनों के स्थान ऐसे निर्धारित किए गए हों जिससे कर्मचारियों को काम करने एवं कच्चा व तैयार माल सुरक्षित रखने में असुविधा न हो. इस कार्यस्थल/स्थान पर बिजली आदि की उचित व्यवस्था का होना प्राथमिक अनिवार्यता है.

सुझाव-

आपको कील बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए ऐसे स्थान का चुनाव करना चाहिए, जहां से रॉ मटेरियल/कच्चा माल लगातार व आसानी से मिल सकता हो. साथ ही आपके प्लांट स्थान पर transportation संबंधी आवागमन (क्रय-विक्रय आदि) की उचित व्यवस्था होनी आवश्यक है. यह स्थान अगर किसी व्यवसायिक क्षेत्र के अंतर्गत आता है तो सबसे उत्तम है.

स्थान पर बिजली आपूर्ति (Required Electricity)-

व्यवसायिक तौर पर कील बनाने के व्यवसाय में मशीनों आदि के सुगम संचालन के लिए कम से कम 03 से 15 किलोवॉट क्षमता के बिजली कनेक्शन की अवश्यकता होती है. यह क्षमता मशीनों के चयन आधार पर घट-बढ़ सकती है अथवा सुनिश्चित की जा सकती है.

कील व्यवसाय में कर्मचारियों की जरूरत (Required Manpower)-

अमूमन बड़े स्तर पर प्रत्येक Manufacturing Business अथवा व्यवसाय में मैनपावर या कर्मचारियों की जरूरत पड़ती ही है, व्यवसायिक तौर पर Wire Nails Manufacturing Business अथवा कारोबार/व्यापार को शुरू करने में कम से कम 03 से 05 मैनपावर/कर्मचारियों की अवश्यकता होती है. ये कर्मचारी- मार्केटर/सेल्समैन, अकाउंटेंट, लेबर व सफाई कर्मी आदि हो सकते हैं. 

कील व्यवसाय की मार्केटिंग और कहां-कहां बेंच सकते हैं (Marketing and Where to sell)-

Product तैयार हो जाने के बाद सबसे अहम काम होता है अपने उत्पाद के प्रति लोगों को जागरूक करना मतलब अपने उत्पाद की मार्केटिंग करना. वैसे कील बनाने का कारोबार B2B (Business to Business) मार्केट के अंतर्गत आता है,

इसलिए कील बनाने के बिजनेस में कोई बड़ी मार्केटिंग करने की आवश्यकता नहीं होती है. आपको अपने प्रोडक्ट की जानकारी संबंधित क्षेत्र के होलसेल कारोबारियों से अवगत कराना होता है.

शुरूआती स्तर पर आप अपने उत्पाद की बिक्री के लिए स्थानीय हार्डवेयर स्टोर, फर्नीचर, कारपेंटर दुकानों और फोटो-फ्रेम स्टोर आदि पर संपर्क कर सकते हैं. इसके साथ ही कुछ बड़े स्तर के कारोबार जैसे- चमड़ा उद्योग, वाद्य यंत्र विनिर्माण उद्योग आदि से भी संपर्क कर सकते हैं. अमूमन इन स्थानों व उद्योगों में कीलों की खपत सबसे ज्यादा होती है.

कील का मूल्य निर्धारण (Pricing for Wire Nails)-

एक नए उत्पाद को बाजार में बेचने के लिए सबसे अहम भूमिका निभाता है उसका मूल्य! और यह बात सार्वभौम सत्य है कि आज जिस तरह से मंहगाई बढ रही है, उसे ध्यान में रखते हुए आपको अपने उत्पाद का मूल्य इतना रखना चाहिए, जिसे समाज का हर वर्ग आसानी से खरीद सके.

इसलिए बाजार और मंहगाई को देखते हुए आप अपने उत्पाद का मूल्य बाजार में मौजूद अन्य उत्पादन कर्ताओंके उत्पाद की अपेक्षा कुछ कम ही रखें लेकिन उत्पाद की गुणवत्ता से कोई समझौता न करें,

वैसे कीलों के मूल्य का बाजार में कोई ज्यादा उतार-चढ़ाव देखने को नहीं मिलता है, लेकिन फिर भी यदि आप कील विनिर्माण के क्षेत्र में नए हैं तो 50 पैसे प्रति किलोग्राम का अंतर भी मौजूदा बाजार में अच्छा-ख़ासा प्रभाव डाल सकता है.

कील बनाने के लिए प्रशिक्षण (Training for Wire Nail making)-

कच्चे माल से कील बनाने के लिए किसी विशेष प्रशिक्षण की आवश्यकता नहीं पड़ती है क्योंकि कील बनाने का पूरा काम पूरी तरह से ऑटोमेटिक मशीनों द्वारा किया जाता है. और जहां से आप मशीनरी आदि की खरीददारी करेंगे, वहीँ से आपको कील बनाने की पूरी विधि की जानकारी और आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान कर दिया जाता है.

कील व्यवसाय का पंजीकरण (Wire Nail making Business Registration)-

किसी भी व्यापार को शुरू करने के लिए पहला मानक है. पंजीकरण/रजिस्ट्रेशन के बाद ही आप अपने उत्पाद का प्रचार व प्रसार मार्केट/बाजार में शुरू कर सकते हैं. पंजीकरण कराने के लिए आपको भारत सरकार द्वारा निर्धारित प्रमाणों से प्रमाणन करना जरूरी होता है. ये प्रमाणन हैं-

  1. MSME उद्यम
  2. Factory License
  3. GST No. (टैक्स पंजीकरण)
  4. Trade License
  5. IEC प्रमाण पत्र (किसी भी दूसरे राज्य में एक्सपोर्ट के लिए)

कील व्यवसाय पर लागत (Total Business Cost)-

व्यवसायिक तौर पर कील बनाने के पूरे ऑटोमेटिक setup स्थापित करने के लिए कम से कम लगभग 05 से 15 लाख रुपए की पूंजी का निवेश करना होगा. यह निवेश ऑटोमेटिक मशीनों, स्थान, कच्चे माल की क्रय दर के अलावा मैनपावर के चयन पर घट अथवा बढ़ सकता है.

सुझाव-

कील बनाने के व्यवसाय या किसी भी व्यवसाय/कारोबार को शुरू करने अथवा लागत लगाने से पूर्व इच्छुक व नए उभरते हुए उद्यमी, व्यवसायी, व्यापारी एवं कारोबारी को इन बातों का हमेशा ध्यान रखना चाहिए-

  1. बाजार में उत्पाद की मांग व खपत का आंकलन करना,
  2. कच्चे माल का कीमत व उपलब्धता पर ध्यान देना,
  3. अपने प्रतिस्पर्धी को पहचानना व उसकी कमियों को खोजना
  4. अपने कारोबार के लिए एक बेहतर रणनीति बनाना.

कील व्यवसाय के लिए लोन (Loan for Wire Nail Making Business)-

लघु उद्योग को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने मेक इन इण्डिया के तहत प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP), कौशल विकास योजना आदि के माध्यम आपको आसानी से ऋण/लोन मिल सकता है.

इसके लिए आपको अपनी कंपनी या फर्म के पंजीकरण संख्या से सरकारी योजनाओं के तहत आवेदन करना होगा. सरकारी योजनाओंके तहत लघु उद्योग हेतु ऋण/लोन लेने के लिए आप अपने क्षेत्रीय सरकारी बैंक की शाखा से आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

कील व्यवसाय में मुनाफा (Profit in Wire Nail Making Business)-

अब बात करते हैं कील बनाने के व्यवसाय से होने वाले मुनाफे की. सामान्य तौर पर उच्च गुणवत्ता की कील बनाने व पैकिंग सहित तैयार करने में लगभग 36 रूपए प्रति किलोग्राम तक खर्च (जिसमें कच्चे माल + मैनपावर खर्चा और बिजली का खर्चा शामिल) आ जाता है.

जिसे खुदरा बाजार (Retail Market) में आसानी से 50 से 57 रूपए प्रति किलोग्राम तक बेचा जाता है. जहां मुनाफा 14 से 21 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से लिया अथवा कमाया जाता है.

वही यदि आप होलसेल में कील को बिक्री के लिए भेजते हैं तो होलसेल में कील 42 से 46 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से विक्रय की जाती है. जहां मुनाफा 06 से 10 रूपए प्रति किलो कील की दर से लिया अथवा कमाया जाता है. 

नोट- आपका मुनाफा तैयार माल/उत्पाद की गुणवत्ता (Quality) और मार्केटिंग दोनों पर निर्भर करता है.

FAQ.

कील कितने प्रकार की होती है?

मौजूदा बाजार में उपयोग के आधार पर विभिन्न आकार और प्रकार कील देखने को मिलती हैं. मसलन-
1. सामान्य कील (Normal Nail)
2. अल्फा कील (Alpha Nail)
3. बिडिंग कील (Bidding Nail)
4. कवरिंग कील (Covering Nail)
5. चमड़ा, लकड़ी व कंस्ट्रक्शन में उपयोग होने वाली अलग-अलग कीलें आदि

कील के सिरे को नुकीला क्यों बनाया जाता है?

कील का काम होता है- उन कठोर स्थानों पर छेद करना व वहीँ पर कठोरता से टिक जाना. जहाँ आसानी से छेद नहीं किया जा सकता (ड्रिल बिट भी एक तरह की कील ही है).
विज्ञान के मुताबिक किसी भी कठोर/ठोस सतह पर छिद्र करने के लिए उस टूल का नुकीला होना जरूरी होता है, जिससे कम उर्जा में कार्य को जल्द और आसानी से सिद्द किया जा सके.

क्या कील बनाने का कारोबार वास्तव में मुनाफे का कारोबार है (Is nail making business profitable?)

जी हां! कील बनाने का व्यवसाय एक हमेशा चलने वाला सदाबहार कारोबार है. क्योंकि कीलों की मांग बाजार में हमेशा बनी ही रहती है और सबसे बड़ी बात कीलें कभी expire नहीं होती साथ ही तैयार हो जाने के बाद मुनाफा देना शुरू कर देती हैं.

कील बनाने के लिए किस तरह के तार का उपयोग किया जाता है (Which wire is used for nail making?)

सामान्यत: कील बनाने के लिए “Q195 low carbon wire” का उपयोग किया जाता है. इसके अलावा इच्छुक उद्यमी किसी अन्य धातु से भी कील का निर्माण आसानी से कर सकता है.

लोहे की कील बनाने वाली मशीन की कीमत कितनी होती है?

लोहे/स्टील की कील बनाने के लिए कम से कम 3 HP की Nails Making Machine with dye की आवश्यकता होती है, जिसकी कीमत- 2.5 लाख रूपए प्रति इकाई से शुरू हो जाती है.

अंत में-

हमारा उद्देश्य उन इच्छुक उम्मीदवारों, उद्यमियों, व्यवसायियों, व्यापारियों और कारोबारियों को बेहतर से बेहतरीन जानकारी प्रदान करना है, जो कील बनाने के व्यवसाय (Wire Nail Making Business) को करने के इच्छुक हैं और इस व्यवसाय में अपना भविष्य देख रहे हैं अथवा बनाना चाहते हैं.

नोट- किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले बाजार/मार्केट रिसर्च एवं खपत का आंकलन अनिवार्य रूप से अवश्य करें. ऐसा करने से आपको व्यवसाय में आने वाले जोखिम और दिक्कतों का सामना करने में आसानी हो जाएगी और बाजार में डिमांड के अनुरूप आप अपने products का निर्माण भी अच्छे से कर पाएंगे.

आशा है आपको इस लेख ‘कैसे शुरू करें कील बनाने का व्यवसाय’ से कील व्यवसाय, उद्यम व कारोबार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही… यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें.

पोस्ट में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों, social media के साथ अन्य जरूरतमंद लोगों भी जरूर share करें. आपका एक share किसी को एक नई दिशा दिखा सकता है. अभी तक के लिए इतना ही-

“शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल व्यापारिक भविष्य के लिए”

धन्यवाद!

जय हिंद! जय भारत!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular