रीसायकल बिजनेसफूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Flower...

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Flower Waste Recycle Business in hindi

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय (Flower Waste Recycling Business) की विस्तृत जानकारी, फूल अपशिष्ट पुनर्नवीनीकरण/पुनर्नचक्रीकरण की संभावनाएं, व्यवसाय शुरू करने के लिए मशीनों की आवश्यकता, कितने उत्पाद बनाये जाते हैं, फूल वेस्ट रीसायकल बिजनेस में लागत व मुनाफा

आस्था और प्रेम का प्रतिक माने जाने वाले रंग-बिरंगे फूल हर किसी को अपनी ओर जरूर आकर्षित करते हैं. हमारा देश भारत जहां लगभग दुनिया के सभी धर्मों का समावेश है. यहां सभी छोटे-बड़े धार्मिक समारोहों, उत्सवों व व्यक्तिगत आयोजनों, व्यवसायिक एवं व्यापारिक उद्घाटनों में सुन्दर फूलों का बहुत बड़ी मात्रा में उपयोग किया जाता है. साथ ही दैनिक स्तर पर भी धार्मिक पूजा-पाठ एवं कर्मकांड आदि में भी फूलों की बड़ी संख्या में खपत होती है.

क्षणिक समय के लिए उपयोग में लिए जाने वाले फूल आयोजित कार्यक्रमों व दैनिक कार्यों के समापन के बाद यूं ही इधर-उधर या कचरे में फेक अथवा विसर्जित कर दिए जाते हैं. जिससे यह फूल जहां फेके/छोडे जाते हैं वही पर सड़ने-गलने लगते हैं.

फूल-वेस्ट-रीसायकल-व्यवसाय-Flower-Waste-Recycling-Business
फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय (Flower Waste Recycling Business)

अमूमन प्रत्येक फूल थोड़ा-बहुत सुगंध से युक्त होता है, इसलिए जब फूल सड़ते हैं तो सड़न से इनकी सुगंध दुर्गन्ध में बदल जाती है जो वातावरण की वायु को बड़े स्तर पर प्रदूषित करने का काम करती है. तो इसका समाधान क्या है? 

अपशिष्ट के रूप में निकले फूलों (floral waste) को यूं ही कचरे/कूड़े में फेक देना कोई समाधान नहीं, बल्कि वेस्ट/अपशिष्ट के रूप में फेके या विसर्जित किये गए पुष्पों को इकठ्ठा कर इनका समय से उचित निपटान (flower waste management) अथवा पुनर्चक्रीकरण (flower waste recycling) किया जाना ही मात्र एक समाधान है.

इसे भी पढ़ें- कैसे शुरू करने सफल कारोबार

और आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपके साथ फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय (Flower waste recycling business) के बारे में विस्तृत जानकारी साझा करने जा रहे हैं. यदि आप या कोई भी इच्छुक व्यवसायीय/कारोबारी/उद्यमी कचरे से अपनी कमाई की शुरुआत करना चाहता है तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें, आपको विस्तृत जानकारी जरूर हांसिल होगी.

अनुक्रमिका

Recycling व्यवसाय की संभावनाएं एवं अवसर-

आज जिस तरह से प्रत्येक क्षेत्र में मानव निर्मित कचरे की बढ़ोत्तरी हो रही है, इसको देखते हुए इसका निपटान किया जाना प्राथमिक और अनिवार्य हो चुका है, जहां तक कचरे कि बात करें तो किसी भी कचरे का निपटान करने के लिए 02 विकल्पों की संभावना हो सकती है-

  1. कचरे को पूर्ण रूप से नष्ट (जलाकर या जमीन में दबाकर) कर दिया जाए, जिससे पर्यावरण दूषित होगा.
  2. कचरे का पुनर्नवीनीकरण(Recycle) कर पुनः उपयोग हेतु बनाया जाए, जो पर्यावरण को दूषित न करे.

हमारी सहज समझ दूसरे विकल्प का ही चुनाव करेगी. तो इसका मतलब यह है कि Recycling का व्यवसाय शुरू करना एक लाभ का कारोबार सिद्ध हो सकता है. साथ ही बदलते समय के साथ विभिन्न तरह के पुनर्नवीनीकरण व्यवसाय को शुरू करने की आवश्यकता भी है क्योंकि अगर समय से कचरे को रीसायकल नहीं किया गया तो जिस पृथ्वी पर हम रहते हैं उसका विनाश होना निश्चित है और जिसके जिम्मेदार हम खुद होंगे.

वहीं दूसरी ओर अगर हम इस कचरे का पुनर्नवीनीकरण (Waste Recycling) समय से करते हैं तो यह Recycling व्यवसाय हमें एक अच्छा मुनाफा भी दे सकता है, आज बहुत ही कम लोग है जो जानते कि कचरा भी कमाई का जरिया हो सकता है. अगर आप फूल अपशिष्ट पुनर्नवीनीकरण व्यवसाय (flower waste recycling) plant स्थापित करना या इसके बारे विस्तृत जानकारी पाना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें.

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय को शुरू करने के लिए इच्छुक व्यवसायीय/कारोबारी/उद्यमी को हमेशा ही कुछ आवश्यक घटकों को समझना जरूरी होता है. जैसे- रॉ मटेरियल, पंजीकरण, लागत, मुनाफा और स्थान आदि. तो चलिये शुरू करते हैं, भविष्य के उभरते हुए व्यवसाय की चर्चा-

इनोवेटिव आईडिया और व्यवसाय की रणनीति (Innovative Idea and strategy)-

किसी भी रिसायकलिंग व्यवसाय को शुरू करने में हमेशा से सबसे अहम भूमिका में होता है एक इनोवेटिव आईडिया और व्यवसाय की रणनीति. फूल अपशिष्ट पुनर्नवीनीकरण (Flower Waste Recycling) व्यवसाय को शुरू करने के लिए भी इच्छुक व्यवसायीय/उद्यमी के पास एक बेहतर इनोवेटिव आईडिया और व्यवसाय की कारगर रणनीति का होना जरूरी होता है.

मसलन- कारोबार को शुरू करने के लिए कच्चे माल की उपलब्धता, चयनित स्थान से कच्चे माल को इकठ्ठा करने/कराने की रणनीति और रीसायकल प्रोसेस से तैयार उत्पाद की बाजार में बिक्री की रणनीति आदि.

फूल वेस्ट रीसायकल से तैयार होने वाले उत्पाद (flower waste recycling by products)-

फूल अपशिष्ट (Flower waste) से कई तरह के दैनिक उपयोग के उच्च गुणवत्ता के उत्पादों का निर्माण किया जाता है. ये उत्पाद हैं-

  1. धूपबत्ती (flowers waste dhoopbatti),
  2. अगरबत्ती (flower waste agarbatti),
  3. हवन कप/कलश (flowers waste hawan cup)
  4. बायो एंजाइम (liquid)
  5. प्राकृतिक रंग
  6. सुगन्धित द्रव्य जैसे- अतर(इत्र), कास्मेटिक व industrial ग्रेड perfumes,
  7. आर्गेनिक खाद जैसे- वर्मी कम्पोस्ट आदि

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक स्थान (Required Land)-

Flowers waste recycling व्यवसाय/फैक्ट्री शुरू करने के लिए कम से कम 4,000 वर्ग फुट स्थान या जगह की जरूरत होती है, जहां प्लांट कम से कम 3,800 वर्ग फुट क्षेत्र (Area) पूरी तरह से धूल, बारिस, मिट्टी व प्रदूषण से ढका (Covered) या संरक्षित होना चाहिए. साथ ही आपके कार्य क्षेत्र पर रोशनदान व एक्जास्ट पंखा का होना जरूरी है.

प्लांट में मशीनों के स्थान, एकत्रीकरण व छटाई स्थान, ऐसे निर्धारित किए गए हों जिससे कर्मचारियों को काम करने एवं कच्चा व तैयार माल सुरक्षित रखने में असुविधा न हो. इस स्थान पर बिजली आदि की उचित व्यवस्था का होना अनिवार्य है.

सुझाव-

आपको Flower waste recycling का व्यवसाय शुरू करने के लिए ऐसे स्थान का चुनाव करना चाहिए, जहां से रॉ मटेरियल या कच्चा माल आसानी से मिल सकता हो. साथ ही आपके प्लांट स्थान पर transportation संबंधी आवागमन (क्रय-विक्रय आदि) की उचित व्यवस्था होनी आवश्यक है. यह स्थान अगर किसी व्यवसायिक क्षेत्रों के अंतर्गत आता है तो सबसे उत्तम है.

स्थान पर बिजली आपूर्ति व आवश्यक उपकरण (Required electricity & equipment)-

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय में मशीनों आदि के सुगम संचालन के लिए कम से कम 05 से 10 किलोवॉट क्षमता के बिजली कनेक्शन की अवश्यकता होती है. यह क्षमता मशीनों के चयन आधार पर भी सुनिश्चित/निर्धारित की जा सकती है, साथ ही प्लांट में बिजली को नियंत्रित व पर्याप्त आपूर्ति के लिए DG Set, Control Panel, Power Panel आदि उपकरणों का होना जरूरी है.

कहां से खरीदें-

उपरोक्त पैनल्स को आप अपने लोकल मार्केट से बनवा या खरीद सकते हैं यदि आपके लोकल बाजार में यह पैनल नहीं मिल पा रहे हैं तो इसे आप ऑनलाइन भी नीचे दी गई वेबसाइटस से खरीद सकते हैं-

  1. www.dir.indiamart.com
  2. www.tradeindia.com
  3. www.exportersindia.com या फिर आप जिसे जानते हैं वहाँ से ऑर्डर दे सकते हैं.

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय में कर्मचारियों की जरूरत (Required manpower)-

अमूमन बड़े स्तर पर प्रत्येक रीसाइक्लिंग व्यवसाय में मैनपावर या कर्मचारियों की जरूरत पड़ती ही है, Flowers waste recycling व्यवसाय को शुरू करने में कम से कम 08 से 15 मैनपावर या कर्मचारियों की अवश्यकता होती है. ये कर्मचारी मैनेजर, मार्केटर, लेबर व सफाई कर्मी आदि हो सकते हैं.

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय के लिए कच्चा माल कहां से मिलेगा (Raw material)-

सामान्य तौर floral waste को इकठ्ठा करने के लिए उन स्थानों को चिन्हित किया जाता है, जहां दैनिक दर पर फूलों की खपत बड़ी मात्रा में होती है, यह स्थान बड़े-छोटे धार्मिक व व्यक्तिगत आयोजन स्थल जैसे- मंदिर, मस्जिद, मजार, गुरुद्वारा, शादी-ब्याह के स्थान व पार्टी आयोजन स्थान आदि हो सकते हैं.

जहां आयोजित कार्यक्रम के समापन के बाद बड़ी मात्रा में उपयोग में लिए गए फूल कचरे में फेक अथवा विसर्जित कर दिए जाते हैं. चूंकि भारत में लगभग हर बड़े-छोटे आयोजन में फूलों को विशेष तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. अत: इच्छुक व्यवसायीय/उद्यमी को floral waste को इकठ्ठा करने के लिए इन स्थानों पर पैनी नजर रखने की आवश्यकता होती है.

सुझाव-

  1. इच्छुक व्यवसायीय/उद्यमी चिन्हित स्थानों के प्रबंधकों से floral waste इकठ्ठा करने/कराने  के लिए उन्हें प्रति किलोग्राम के हिसाब से एक निश्चित धनराशी की पेशकश कर सकता है. ऐसा करने से एक तरफ मैनपावर खर्च में कटौती आएगी, साथ ही floral waste भी उच्च गुणवत्ता का प्राप्त हो जाएगा.
  2. मौजूदा बाजार में floral waste का मूल्य 10 से 50 रूपए प्रति किलोग्राम के हिसाब से ख़रीदा जाता है. यह मूल्य फूल अपशिष्ट की गुणवत्ता पर निर्भर करता है.

कच्चे माल की छटाई करना (sorting)-

floral waste इकठ्ठा हो जाने के बाद Flowers waste recycling व्यवसाय में सबसे अहम भूमिका होती है, फूल अपशिष्ट/कचरे की छटाई करना. कचरे की छटाई पूरी तरह से हाथों से की जाती है और इस काम को पूरा करने के लिए अच्छी-खासी मैनपावर लगती है. कचरे की छटाई व धुलाई के बाद यह पूरी तरह से निश्चित/निर्धारित किया जाता है कि छटे हुए  floral waste से कितने तरह के उत्पाद बनाए जा सकते हैं.

अमूमन सबसे उच्च गुणवत्ता के सुगन्ध युक्त फूलों से सुगन्धित अतर (इत्र) व कास्मेटिक एवं industrial ग्रेड के perfumes का निर्माण किया जाता है. इसके बाद अन्य उत्पाद जैसे- धूपबत्ती, अगरबत्ती, हवन कप/कलश, बायो एंजाइम, प्राकृतिक रंग व खाद आदि विनिर्माण का चयन किया जाता है.

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय में आवश्यक मशीनरी (Required machinery)

Floral Waste से धूपबत्ती, अगरबत्ती, हवन कप/कलश व खाद आदि विनिर्माण करने के लिए इच्छुक व्यवसायीय/उद्यमी को …. मशीनों की जरूरत होती है, ये मशीनें है-

  1. Industrial Pulverizer Machine- (कीमत-  1.01 Lakh प्रति इकाई से शुरू) 
  2. Mixer Machine- (कीमत-  1.02 Lakh प्रति इकाई से शुरू) 
  3. Dhoopbatti or Agarbatti And Incense Stick Making Machine (कीमत- 45 हजार रूपए प्रति इकाई से शुरू)
  4. Hawan Cup Making Machine- (कीमत-  12 हजार प्रति इकाई से शुरू)

नोट 

  • उपरोक्त बताई गई मशीनें ऑटोमेटिक व सेमी ऑटोमेटिक वेरियंट एवं अलग-अलग क्षमता की आती हैं, साथ ही इन मशीनों का चुनाव आप व्यवसाय की उत्पादन कार्यक्षमता के आधार पर ही करें.
  • उपरोक्त बताई गई मशीनों की कीमत बाजार उतार-चढ़ाव के कारण घट-बढ़ सकती है.

मशीनरी कहां से खरीदें-

उपरोक्त मशीनरी को आप अपने लोकल मार्केट से ले सकते हैं यदि लोकल बाजार में यह मशीने नहीं मिल पा रही हैं तो इस आप ऑनलाइन भी नीचे दी गई वेबसाइटस से खरीद सकते हैं-

  1. www.dir.indiamart.com
  2. www.tradeindia.com
  3. www.exportersindia.com या फिर आप जिसे जानते हैं वहाँ से ऑर्डर दे सकते हैं.

फूल वेस्ट को रीसायकल करने की प्रक्रिया (flower waste recycling process)-

  • Floral Waste से धूपबत्ती, अगरबत्ती, हवन कप/कलश आदि का निर्माण करने के लिए सबसे पहले waste material को धुला और फिर सुखाया जाता है. धोने व सुखाने के लिए साधारण या industrial grade की washing & dryer machine को उपयोग में लिया जाता है, साथ ही यह प्रक्रिया हाथों से भी की जा सकती है.
  • स्वच्छ (धुल और सूख) हो जाने के बाद फूलों को Mixer Machine में डालकर अलग-अलग तरह के फूलों को आपस में अच्छे से मिलाया जाता है.
  • इसके बाद मिक्स किये गए फूलों को Pulverizer Machine में डालकर फूलों का पाउडर तैयार किया जाता है. इस तैयार पाउडर में वांछित उत्पाद जैसे- धूपबत्ती, अगरबत्ती व हवन कप/कलश आदि विनिर्मित करने के लिए आवश्यक अन्य सामग्री मिलाकर वांछित उत्पाद तैयार किया जाता है. वेस्ट मटेरियल से बने उत्पाद पूरी तरह से ऑर्गेनिक व उच्च गुणवत्ता के उत्पाद होते हैं.

व्यवसाय का पंजीकरण (Registration)-

किसी भी व्यवसाय/कारोबार शुरू करने से पहले इच्छुक उद्यमी को अपने व्यवसाय/व्यापार/कारोबार का पंजीकरण ROC के तहत कराना होता है, क्योंकि किसी भी व्यापार को शुरू करने के लिए पहला मानक पंजीकरण/रजिस्ट्रेशन लेना होता है. फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय (Flowers waste recycling business) को शुरू करने के लिए उद्यमी को अपनी फर्म पंजीकरण के बाद फर्म के नाम से एक बैक खाता खोलना अनिवार्य है. इसके बाद…

फूल वेस्ट मटेरियल को रीसायकल करने वाले व्यवसाय/कारोबार को शुरू करने के लिए भारत सरकार द्वारा निर्धारित किए गए मानक प्रमाण पत्रों से पंजीकृत कराना अनिवार्य है. यह पंजीकरण हैं-

  1. MSME Registration
  2. Factory License
  3. GST No.
  4. Trade License
  5. NOC Certificate from Pollution Department & Fire Control Board
  6. IEC License

कहां-कहां बेंच सकते हैं (where to sell)-

फूल वेस्ट की रीसायकल प्रोसेस से तैयार उत्पाद की जरूरत कई प्रकार के daily use और cosmetic के क्षेत्र से जुड़ी manufacturing यूनिटों में होती है, फूल वेस्ट मटेरियल से बना रीसायकल उत्पाद B2B (Business to Business) लघु उद्योग अंतर्गत भी आता है, इसलिए फूलों से बने रीसायकल उत्पादों की डिमांड/मांग भी दैनिक स्तर पर दिन प्रति दिन बढती जा रही है.

रीसायकल प्रक्रिया के महत्व व उपयोगिता के कारण आज पुनर्नवीनीकरण व्यवसाय अच्छे एवं बेहतर ढंग से फल-फूल रहा है. क्योंकि रीसायकल प्रोसेस से हमेशा ही उन उत्पादों का निर्माण किया जाता है जो आज समाज की प्राथमिक जरूरतों को पूरा करने के लिए उत्तरदायी हैं.

फूल अपशिष्ट रीसायकल व्यवसाय पर लागत (Flower Waste Recycle Business Cost)-

यदि आप कचरे में फेके गए Flowers waste का recycle करने का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय के पूरे setup में कम से कम लगभग 05 से 35 लाख रुपए की पूंजी का निवेश करना होगा. यह निवेश मशीनों, स्थान, कच्चे माल की क्रय दर के अलावा मैनपावर के चयन पर घट अथवा बढ़ भी सकता है.

इसे भी पढ़ें- सफल कारोबारी की खास बातें

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय के लिए लोन-

कचरे को रीसायकल करने वाले लगभग सभी उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने मेक इन इण्डिया के तहत प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना (PMEGP), कौशल विकास योजना आदि के माध्यम आपको आसानी से ऋण/लोन मिल सकता है. इसके लिए आपको अपनी कंपनी या फर्म के पंजीकरण संख्या से सरकारी योजनाओं के तहत आवेदन करना होगा.

सरकारी योजनाओं के तहत लघु उद्योग हेतु ऋण/लोन लेने के लिए आप अपने क्षेत्रीय सरकारी बैंक की शाखा से आवशयक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय में मुनाफा (Profit in Flower Waste Recycle Business)-

अब बात करते हैं फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय या फ्लावर वेस्ट रीसाइक्लिंग व्यवसाय से होने वाले मुनाफे की. सामान्य तौर पर फूल वेस्ट रिसाइक्लिंग व्यवसाय में रॉ मटेरियल/कच्चा माल गुणवत्ता के आधार पर 10 से 50 रुपए प्रति किलो की दर से खरीदा जाता है. जिसे मशीनों द्वारा Recycle Process से गुजार कर अलग-अलग किस्म के उत्पाद तैयार किये जाते हैं.

जिसे बाजार में अन्य निर्माण कर्ताओं व सम्बंधित कारोबारियों के होलसेल व खुदरा (Retail) बाजार में आसानी बेचा/विक्रय किया जाता है. जहां मुनाफा निर्मित उत्पाद की विविधता के हिसाब से अलग-अलग कमाया अथवा लिया जाता है.

मोटे तौर पर फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय से तैयार 10 लाख रुपए के उत्पाद/माल की बिक्री पर (सभी कटौतियों- कर्मचारी वेतन, बिजली बिल व रॉ मटेरियल आदि को निपटाकर) लगभग 80 हजार से 03 लाख रुपए का मुनाफा प्रति माह लिया जा सकता है. यह मुनाफा आपके व्यवसाय स्तर व निर्मित उत्पाद चयन के आधार पर बढ़ अथवा घट सकता है.

Top Flower Waste Recycling Companies who work in India-

  1. HelpUsGreen (Located On Panki Industrial Area, Kanpur, UP, India)
  2. Aaruhi Enterprises (Located On Delhi, India)
  3. Holy Waste (Located On ……. India)

Top Other Recycling Companies

  • A2Z Green Waste Management Ltd
  • BVG India Ltd
  • Ecowise Waste Management Pvt. Ltd
  • Ecogreen Energy Pvt. Ltd
  • Hanjer Biotech Energies Pvt. Ltd
  • Tatva Global Environment Ltd
  • Waste Ventures India Pvt. Ltd

FAQ.

waste flower recycling का सबसे आसान तरीका क्या है?

किसी भी तरह के जैविक वेस्ट का निपटान करने का सबसे अच्छा और आसान तरीका है, उस कचरे को खाद में परिवर्तित कर देना. वहीँ यदि फूल वेस्ट रिसायकल से अच्छा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो फूल अपशिष्ट से कई तरह के उत्पादों का निर्माण भी आसानी से किया जा सकता है, जिसका उल्लेख ऊपर किया गया है.

क्या फूल वेस्ट से बायो एंजाइम बनाकर मुनाफा कमाया जा सकता है?

फूल वेस्ट से बायो एंजाइम बहुत ही आसानी से बनाया जा सकता है और बाजार में इस एंजाइम को बेंचकर मुनाफा भी लिया जा सकता है. बायो एंजाइम की आवश्यकता जैविक कृषि, किचन गार्डनिंग व आयुर्वेद पद्धति के तहत औषधि निर्माण में होती है.

अंत में-

हमारा उद्देश्य उन इच्छुक उम्मीदवारों, व्यवसायियों, व्यापारियों और कारोबारियों को बेहतर से बेहतर जानकारी प्रदान करना है, जो रिसाइक्लिंग व्यवसाय को करने के इच्छुक हैं और इस व्यवसाय में अपना भविष्य में देख रहे हैं.

नोट- किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले बाजार/मार्केट रिसर्च एवं खपत का आंकलन अनिवार्य रूप से अवश्य करें. ऐसा करने से आपको व्यवसाय में आने वाले जोखिम और दिक्कतों का सामना करने में आसानी हो जाएगी और बाजार में डिमांड के अनुरूप आप अपने products का निर्माण भी अच्छे से कर पाएंगे.

आशा है आपको इस लेख ‘फूल वेस्ट रीसायकल व्यवसाय कैसे शुरू करें’ से कचरे में फेके अथवा विसर्जित किये गए फूलों के recycle business/व्यवसाय, व्यापार व कारोबार के बारे में पूरी जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही… यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें. तब तक के लिए-

शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल व्यापारिक भविष्य के लिए

धन्यवाद!

जय हिंद! जय भारत !

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular