उत्पाद निर्माणकैसे शुरू करें डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय | Detergent Soap Making...

कैसे शुरू करें डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय | Detergent Soap Making Business in hindi

डिटर्जेंट साबुन निर्माण की विस्तृत जानकारी, कपड़े धोने का साबुन बनाने की प्रक्रिया, साबुन की फैक्ट्री कैसे लगाएं, Detergent Soap Making Business, डिटर्जेंट साबुन बनाने का फार्मूला, डिटर्जेंट साबुन बनाने की विधि (detergent sabun banane ki vidhi), डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय में कुल लागत व मुनाफा

बदलती जीवन शैली के कारण आज हमारा रहन-सहन पूरी तरह से बदल चुका है। आज लोग एक ही दिन में कई तरह के कपड़े पहनते हैं, मसलन रात में सोने के लिए अलग तरह के कपड़े पहनते हैं और दिन में सामान्य रूप से या काम आदि पर जाने के लिए अलग तरह के।

कपड़ो के बार-बार उपयोग किए जाने के कारण हमारे कपड़े कुछ समय बाद धूल और पसीने आदि की वजह से गंदे व गंधयुक्त हो जाते हैं, जिन्हें फिर से साफ कर पुनः उपयोग में लिया जाता है।

गंदे व गंधयुक्त कपड़ों को साफ करने के लिए सामान्य तौर पर बाजार में उपलब्ध किफ़ायती दरों पर मिलने वाले डिटर्जेंट साबुन (Detergent Cake/Bar) या डिटर्जेंट पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है। वैसे कपड़ों की तरफ बढ़ते हुए आकर्षण को देखते हुए कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन निर्माण का व्यवसाय शुरू करना एक लाभ देने वाला अच्छा कारोबारी विकल्प साबित हो सकता हैं।

डिटर्जेंट-साबुन-बनाने-का-व्यवसाय-Detergent-Soap-Making-Business
डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय (Detergent Soap Making Business)

बाजार में उच्च गुणवत्ता के डिटर्जेंट साबुनों की बढ़ती मांग के कारण आज डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय व कारोबार फल-फूल रहा है। साथ ही डिटर्जेंट साबुन कारोबारी अपने डिटर्जेंट साबुन बनाने के व्यवसाय से अच्छा मुनाफा भी कमा पा रहे हैं,

तो आइए जानते हैं कि आखिर कम लागत में कैसे शुरू कर सकते हैं कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय? इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए हमें किन-किन चीजों की जरूरत होती है और कारोबार से कितना मुनाफा कमाया जा सकता है?

इस लेख में हम आपके साथ कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन निर्माण व्यवसाय की विस्तृत जानकारी साझा करने जा रहे हैं, यदि आप कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन निर्माण व्यवसाय करने के इच्छुक या जानकारी पाना चाहते/चाहती हैं तो यह लेख आपके काफी मददगार साबित होगा। तो चलिये शुरू करते हैं-

अनुक्रमिका

डिटर्जेंट साबुन बनाने के लिए जरूरी मशीनरी (Required Machinery)-

यदि आप कपड़े धोने वाले साबुन निर्माण व्यवसाय को कम पूंजी निवेश के साथ शुरू करना चाहते हैं तो आपको कम से कम 3 से 5 लाख रुपए का निवेश करना होगा, इस धनराशि से आप कपड़े धोने वाले साबुन व्यवसाय का पूरा setup लगाकर अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं। कपड़े धोने वाले साबुन की Manufacturing यूनिट लगाने के लिए कौन-कौन सी मशीनों की आवश्यकता होती है-

  1. मिक्सर मशीन (Mixer Machine)– (कीमत- 40,000 रुपए से शुरू) इस मशीन को Sigma Mixer के नाम से भी जाना जाता है। इस मशीन द्वारा कपड़े धोने वाले साबुन का निर्माण करने वाले रॉ मटेरियल को एक-एक कर आपस में मिक्स या गूंथा जाता है। (पूरी मिक्सिंग प्रोसेस लगभग 45 मिनट तक होती है)
  2. Plodder Machine– (कीमत- 90,000 रुपए से शुरू) इस मशीन के द्वारा मिक्सर मशीन से निकले मिश्रण को कपड़े धोने वाले साबुन का आकार दिया जाता है। आकार देने के लिए Plodder या Extruder मशीन के आउटपुट पोर्ट पर मनचाहा आकार देने वाली डाई (कीमत- 1200 रुपए से शुरू) अलग से लगाई जाती है।
  3. कटिंग मशीन (Cutting Machine)- (कीमत- 18,000 रुपए से शुरू) इस मशीन के द्वारा कपड़े धोने वाले साबुन को एक निश्चित आकार (साबुन बट्टी- भार के अनुरूप) में काट लिया जाता है। 
  4. पैकिंग मशीन (Packing Machine)– (कीमत- 1,20,000 रुपए से शुरू) यह मशीन कपड़े धोने वाले  साबुन बट्टियों को प्लास्टिक या कागज में पैक/सील करने का काम करती है। (यह मशीन पूरी तरह से वैकल्पिक है, आप साबुन पैकिंग को हाथों से भी कर अथवा करवा सकते/सकती हैं। अधिकांश साबुन निर्माता पैकिंग मैनपावर लगाकर ही करवाते हैं।)

नोट- इन मशीनों का चुनाव आप अपने व्यवसाय उत्पादन और कार्य क्षमता के आधार पर ही करें।

हालांकि कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन का निर्माण मशीनरी के अलावा हाथों से भी किया जा सकता है लेकिन हाथों से बने कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन में बढ़िया finishing नहीं आ पाती है, जिस कारण बाजार में हस्त-निर्मित कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन की बिक्री कर पाना बेहद कठिन व चुनौती पूर्ण होता है, साथ ही हाथों से बनाने में उत्पादन कम और शारीरिक ताकत भी ज्यादा लगती है।

कपड़े धोने वाला डिटर्जेंट साबुन बनाने के लिए रॉ मटेरियल-

  1. Dolomite Powder- 80 किलो (थोक मूल्य- 4 रुपए प्रति किलोग्राम से शुरू)
  2. Acid Slurry– 19 किलो (थोक मूल्य- 55 रुपए प्रति किलोग्राम से शुरू)
  3. Soda Ash- 6 किलो (थोक मूल्य- 20 रुपए प्रति किलोग्राम से शुरू)
  4. AOS Powder- 8 किलो (थोक मूल्य- 40 रुपए प्रति किलोग्राम से शुरू)
  5. Sodium Silicate Liquid- 8 किलो (थोक मूल्य- 25 रुपए प्रति किलोग्राम से शुरू)
  6. Polymer Liquid- 6 किलो (थोक मूल्य- 49 रुपए प्रति किलोग्राम से शुरू)
  7. Fragrance or Perfumes– Approx. 120 ml (थोक मूल्य- 120 रुपए प्रति लीटर से शुरू)
  8. Natural Color- As you required (थोक मूल्य- 12 रुपए प्रति किलो)

आवश्यक उपकरण (Necessary Equipment)-

  1. 03 Plastic बाल्टी- (थोक मूल्य- 40 रुपए से शुरू)
  2. 01 बड़ा चाकू (थोक मूल्य- 25 रुपए प्रति पीस से शुरू)
  3. Digital Weight Machine (कीमत- 3500 प्रति पीस से शुरू)

आवश्यक सुरक्षा उपकरण (Necessary Safety Equipment)-

यदि आप कपड़े धोने वाले साबुन बनाने के व्यवसाय को ही शुरू करना चाहते/चाहती हैं तो आपको अपने हाथों व त्वचा की सुरक्षा के लिए सुरक्षा उपकरण पहनना अनिवार्य है। ये सुरक्षा उपकरण हैं-

  1. Eye Protection Spectacles (पारदर्शी चश्मे)
  2. Thick Hand Gloves (रबर के मोटे दस्ताने) और
  3. Face Mask (चेहरे को सुरक्षा के लिए मास्क)
  4. Rubber Boots (रबर के जूते)

नोट- उपरोक्त बताए गए रॉ मटेरियल, मशीनरी व उपकरणों की कीमत बाजार उतार-चढ़ाव से घट या बढ़ सकती है।

इसे भी देखें- सोलर पैनल बिजनेस की शुरुआत कैसे करें

कहां से खरीदें (Where to buy)-

कपड़े धोने का साबुन बनाने में लगने वाली लगभग सारी सामग्री व मशीनरी आपके स्थानीय थोक/होलसेल बाजार या मार्केट में आसानी से मिल जाता है लेकिन यदि आपके लोकल मार्केट में यह रॉ मटेरियल और मशीनरी नहीं मिल पा रही है तो इसे आप ऑनलाइन भी आर्डर दे सकते/सकती हैं। इसके लिए आप इन वेबसाइट्स की मदद ले सकते/सकती है-

  1. www.indiamart.com 
  2. www.amazon.com या फिर आप जिसे जानते हैं वहाँ से ऑर्डर दे सकते/सकती हैं।

कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन बनाने की विधि/प्रक्रिया (Detergent Cake Making Process)-

मशीनरी की सहायता से निर्मित किए जाने वाले कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन बनाने की विधि/प्रक्रिया को … चरणों में पूरा किया जाता है। ऊपर बताए गए रॉ मटेरियल से जो कपड़े धोने वाला डिटर्जेंट केक (detergent cake) बनता है वह उत्तम गुणवत्ता (High Quality) का होता है, तो चलिये शुरू करते हैं-

प्रथम चरण-

  • पहले चरण में सबसे पहले आपको अपनी सुरक्षा के लिए ऊपर बताए गए सुरक्षा उपकरण को पहनना है, और बेहद जरूरी है। यह बहुत ही जरूरी है क्योंकि जब कपड़े धोने वाले साबुन का मिश्रण बनाया जाता है तो यह मिश्रण गर्म हो जाता है साथ इसमें धूल भी उठती है जो सांस के द्वारा शरीर में जाकर रोग उत्पन्न कर सकती है।

दूसरा चरण-

  • सुरक्षा उपकरण पहनने के बाद सिग्मा मिक्सर मशीन में सबसे पहले डोलोमाइट पाउडर को डालना है
  • इसके बाद इस डोलोमाइट पाउडर में एसिड स्लरी को ऊपर बताई गई मात्रा के अनुसार मिलाना है।
  • स्लरी के बाद सोडा ऐस और AOS को मिलाना है। पूरे मिश्रण को अच्छे से मिलने में तकरीबन 30 मिनट लगते हैं।
  • 30 मिनट बाद इस मिश्रण में सोडियम सिलिकेट की मात्रा को डालकर 05 मिनट तक मिलाना है।
  • इसके बाद मिश्रण में पॉलिमर की मात्रा को डालकर 05 मिनट तक मिलाना है।
  • इसके बाद इस मिश्रण में इच्छानुसार रंग व perfume की मात्रा मिलाकर 05 मिनट तक और मिलाना है। पूरा मिश्रण मिलाने में लगभग 45 मिनट ही लगते हैं। सारे रॉ मटेरियल मिलाने के बाद यह मिश्रण गुंथे हुए आटे की तरह दिखता है।

तीसरा चरण-

  • दूसरे चरण में तैयार हुए मिश्रण को अब साबुन आकार देने के लिए plodder मशीन से गुजारा जाता है, यह मशीन मिश्रण को कपड़े धोने वाले साबुन बट्टी के बड़े loaf में आकार दे देती है। जिसे अगले चरण में पूरा किया जाता है।

चौथा चरण-

  • plodder मशीन से बने कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन/केक बट्टी के बड़े loaf को कटिंग मशीन की मदद से एक निश्चित आकार (साबुन बट्टी- ग्राम के अनुरूप) में काट लिया जाता है,
  • तैयार कपड़े धोने वाला साबुन अभी गर्म व नरम होता है, इसलिए इन कटी हुई साबुन बट्टियों को सूखने के लिए कम से कम 12 से 24 घंटो तक छोड़ दिया जाता है।
  • सूखने के बाद आपका कपड़े धोने वाला साबुन पूरी तरह से उपयोग के लिए तैयार है।

नोट-

  1. उपरोक्त सामग्री की मात्रा में बदलाव कर कपड़े धोने वाला साबुन अन्य तरीकों से भी बनाया जा सकता है, साथ ही बताई रॉ मटेरियल व सामग्री मात्रा में एक-दो बदलाव कर बर्तन धोने वाले साबुन का निर्माण किया जाता है.
  2. यदि आप बर्तन धोने वाले साबुन बनाने का तरीका जानना चाहते/चाहती हैं तो कमेंट में लिखें एवं नए अपडेट पाने के लिए हमारे telegram channel से जरूर जुड़ें।

कपड़े धोने वाले साबुन व्यवसाय की लागत व मैनपावर की जरूरत (Required Manpower)-

  • मोटे तौर पर कपड़े धोने वाले साबुन की एक Manufacturing यूनिट या फैक्ट्री लगाने अथवा शुरू करने में लगभग 03 से 05 लाख रुपए की लागत आती है। साथ ही…
  • कपड़े धोने वाले साबुन की Manufacturing यूनिट शुरू करने के लिए कम से कम 05 से 10 कर्मचारियों या मैनपावर की आवश्यकता होती है, ये कर्मचारी मैनेजर, मार्केटर, सेल्स एक्सिक्यूटिव, लेबर व सफाई कर्मी आदि हो सकते हैं।

नोट- उपरोक्त बताई गई व्यवसाय की लागत बाजार उतार-चढ़ाव के कारण घट या बढ़ सकती है।

कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन का व्यवसाय स्थापित करने के लिए वांछित स्थान (Required Area)-

कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन की Manufacturing unit/फैक्ट्री शुरू करने के लिए कम से कम 1,200 वर्ग फुट के स्थान या जगह की जरूरत होती है, जहां सभी आवश्यक मशीनरी को इन्स्टाल करना, रॉ मटेरियल और तैयार उत्पाद/माल को सुरक्षित रखने का स्थान सुनिश्चित किया गया हो। साथ आपके कार्य स्थल में बिजली आदि की उचित व्यवस्था का होना अनिवार्य है।

सुझाव-

आपको कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन बनाने की फैक्ट्री शुरू करने के लिए ऐसे स्थान का चुनाव करना चाहिए जो बारिस और नमी आदि घटकों से सुरक्षित हो। इससे कपड़े धोने वाले साबुन बनाने के कच्चे माल या रॉ मटेरियल के खराब होने की संभावना कम या समाप्त हो जाएगी।

कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन की पैकिंग तैयार करना-

कपड़े धोने वाले साबुन या डिटर्जेंट केक तैयार हो जाने के बाद इसकी पैकिंग की जाती है। एक शानदार और सुन्दर पैकिंग किसी भी ग्राहक को अपनी ओर आकर्षित कर सकती है और उस पर यदि आपका उत्पाद उच्च गुणवत्ता का है तो जल्द ही मार्केट/बाज़ार में छा भी सकता है. किसी भी Product की पैकिंग उसके ब्रांड वैल्यू को बनाने और बढ़ाने का काम करती है.

इसे भी देखें- कम लागत में कैसे शुरू करें गोबर उत्पाद निर्माण व्यवसाय

पैकिंग की डिजाइन के लिए किसी जानकार ग्राफिक्स डिजाइनर की सहायता जरूर लें। साथ ही उत्पाद बनाने में उपयोग किए गए घटकों का उल्लेख उत्पाद की पैकेजिंग पर अनिवार्य रूप से करें।

कपड़े धोने वाले साबुन की पैकिंग बनवाने के लिए आप सबसे पहले अपने क्षेत्रीय प्रिंटर्स/मुद्रक से संपर्क करें, यदि आपके क्षेत्र में प्रिंटिंग आदि का काम नहीं होता है तो पैकिंग बनवाने के लिए आप इंटरनेट पर मौजूद वेबसाइटो की मदद ले सकते/सकती है।

सुझाव-

आपके Product की बाजार में खपत किस स्तर पर हो रही है, इस खपत आंकलन के अनुसार ही अपना उत्पादन करें.

व्यवसाय का पंजीकरण (Business Registration)-

कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन व्यापार की शुरूआत करने से पहले आपको अपनी कम्पनी/एजेन्सी या फर्म का पंजीकरण कराना अनिवार्य है, क्योंकि पंजीकरण या रजिस्ट्रेशन लेना ही किसी भी व्यापार को शुरू करने के लिए पहला मानक है. पंजीकरण या रजिस्ट्रेशन के बाद ही आप अपने उत्पाद का प्रचार मार्केट/बाजार में कर सकते हैं.

पंजीकरण कराने के लिए आपको सबसे पहले अपनी कम्पनी/एजेन्सी या फर्म के नाम से एक बैंक खाता खोलना होता है, इसके बाद भारत सरकार द्वारा विकसित किये गए उद्यमी पोर्टल MSME पर अपने व्यापार की लागत के अनुरूप सूक्ष्म, मध्यम और लघु उद्योग अंतर्गत श्रेणियों में पंजीकरण करा सकते हैं. साथ ही आपको टैक्स आदि के लिए GST No. भी लेना अनिवार्य है, उत्पाद की गुणवत्ता के लिए ISO Certification भी करा सकते हैं.

इन पंजीकरणों के बाद भी ….. आपको ट्रेड लाइसेंस, ट्रेडमार्क लाइसेंस, फैक्ट्री लाइसेंस और जिले या राज्य के प्रदूषण विभाग से NOC (No Objection Certificate) लेना होता है.

डिटर्जेंट साबुन की मार्केटिंग (Detergent Bar/Cake Marketing)-

Product तैयार हो जाने के बाद सबसे अहम काम होता है अपने उत्पाद से समाज के लोगों जागरूक करना मतलब अपने उत्पाद का प्रचार-प्रसार या मार्केटिंग करना। तो इसके लिए सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने लोकल बाजार के किराना दुकानों और स्टोर्स के कारोबारियों से संपर्क करें, साथ ही लोकल बाजार के कई स्थानों पर पोस्टर, बैनर, होर्डिंग व स्टीकर आदि चस्पा करवा सकते हैं,

चूँकि आपके आस-पास की किराना दुकानें आपको अच्छे से जानते होंगे, जिससे आपके माल के खपत होने कि संभावना बढ़ सकती है। इसके साथ ही थोक/होलसेल बाजार के व्यापारियों से भी थोक बिक्री हेतु संपर्क करें।

उत्पाद का मूल्य निर्धारण-

किसी भी नए उत्पाद को बाजार में बिक्री करने के लिए सबसे अहम भूमिका निभाता है उसका मूल्य और यह बात सार्वभौम सत्य है. आज जिस तरह से मंहगाई बढ रही है, उसे ध्यान में रखते हुए आपके उत्पाद का मूल्य इतना होना चाहिए, जिसे समाज का हर वर्ग आसानी से खरीद सके.

इसलिए बाजार और मंहगाई को ध्यान में रखते हुए आप अपने उत्पाद का मूल्य बाजार में मौजूद अन्य उत्पादों की अपेक्षा कुछ कम ही रखें लेकिन उत्पाद की गुणवत्ता से कोई समझौता न करें, बेहतरीन गुणवत्ता के कारण आपका उत्पाद धीरे-धीरे मार्केट/बाजार में प्रसिद्ध होने लगेगा और जिससे आप अपने कारोबार को छोटे से बड़े स्तर पर विस्तारित कर सकते हैं। कम मूल्य पर उत्पाद बेचने की शुरुवात आपको अपने लोकल मार्केट से ही करनी चाहिए।

Detergent Soap व्यवसाय के लिए लोन-

अपनी फर्म/कंपनी या एजेंसी के रजिस्ट्रेशन/पंजीकरण के तहत आप किसी भी सरकारी बैंक से लोन के लिए apply कर सकते हैं. जो आपको आपके व्यवसाय स्तर के आंकलन के मुताबिक लोन दे सकता है.

लघु उद्योग को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा संचालित मेक इन इंडिया स्कीम के तहत प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री रोजगार योजना कौशल विकास योजना आदि के माध्यम आपको आसानी से ऋण/लोन मिल सकता है, साथ ही राज्य से संचालित योजनाओं से भी आवेदन कर सकते/सकती हैं। इसके लिए आपको अपनी कंपनी/एजेन्सी या फर्म के पंजीकरण संख्या से चुनी हुई योजना के तहत आवेदन करना होगा.

इसे भी पढ़ें- यूएसबी केबिल निर्माण व्यवसाय

सरकारी योजनाओंके तहत लघु उद्योग हेतु ऋण/लोन लेने के लिए आप अपने स्थानीय/लोकल सरकारी बैंक की शाखा से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

व्यवसाय के तहत उत्पाद का बिल व ब्यौरा तैयार करना-

अधिकतर नए व्यापारी नया व्यापार शुरू तो कर देते हैं लेकिन लागत के रूप में खर्चे गए पैसों का हिसाब सही ढंग से नहीं रखते, जो कि एक उभरते हुए व्यापारी के लिए अच्छी बात नहीं है. आज के इस डिजिटल ज़माने में अपने खर्चों को सूचीबद्ध करना बहुत ही आसान है. इसके लिए आज ढेरों software और application मौजूद हैं. 

यदि आप एक smart phone अपने पास रखते हैं तो Google play store पर billing और accounting से जुडी ढेरो application मौजूद हैं. आप उनमें से किसी एक उपयोग कर सकते हैं. इन application में आप अपने तैयार समान के बिल बनाने से लेकर अपनी लागत का ब्यौरा भी सुरक्षित रख सकते है, और इससे आपको पता रहेगा कि आपने अपने बिजनेस में अब तक कुल कितनी लागत लगाई है और कितना मुनाफा कमाया.

 डिटर्जेंट साबुन व्यवसाय निर्माण मुनाफा-

हर एक व्यवसायी, व्यापारी और कारोबारी को सबसे उच्च स्तर का लाभ प्राप्त करने की अभिलाषा हमेशा होती है, मौलिक तौर पर मुनाफा शब्द एक ऐसा शब्द है जो हर किसी को एक नई प्रेरणा देता है. 

कोरोना काल ने साबुन और स्वच्छता से जुड़े व्यवसायियों के लिए कई लाभ सम्भावनाओं को पैदा किया है। अमूमन अच्छी गुणवत्ता के कपड़े धोने वाले साबुन पर पैकिंग सहित लागत प्रति 100 ग्राम (साबुन बट्टी) लगभग 04 से 08 रुपए तक आती है जिसे खुदरा मार्केट में 10 से 18 रुपए प्रति 100 ग्राम (साबुन बट्टी) तक बेचा जाता है।

जहां आपको मुनाफा या लाभ 6 से 15 रूपए प्रति 100 ग्राम (साबुन बट्टी) के हिसाब से होता है. जैसे-जैसे आपके उत्पाद की खपत बढती है आपका मुनाफा भी गुणन के आधार पर बढ़ता जाता है, आप कपड़े धोने वाले साबुन निर्माण के कारोबार से 40,000 से लेकर 90,000 रुपए तक हर महीने कमा सकते हैं और जैसे-जैसे आपका कारोबार बढ़ेगा आपका मुनाफा भी बढ़ता जाएगा।

इन्हें भी देखें-

कम निवेश से शुरू करें पशु आहार बनाने का व्यवसाय

कम लागत में शुरू करें नमकीन बनाने का व्यवसाय

गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाने का व्यवसाय

अंत में-

आज जैसे-जैसे हमारा समाज स्वच्छता के प्रति जागरूक हो रहा वैसे-वैसे स्वच्छता संबंधी उत्पादों जैसे डिटर्जेंट साबुन आदि की उपयोगिता और कपड़े धोने वाले साबुन को बनाने के व्यवसाय व कारोबार में नई संभावनाएं पैदा होती जा रही है। जिसके चलते कपड़े धोने वाले साबुन बनाने का व्यवसाय लगाना एक लाभकारी विकल्प साबित हो सकता है।

नोट- किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले बाजार/मार्केट रिसर्च एवं खपत का आंकलन अनिवार्य रूप से अवश्य करें. ऐसा करने से आपको व्यवसाय में आने वाले जोखिम और दिक्कतों का सामना करने में आसानी हो जाएगी और बाजार में डिमांड के अनुरूप आप अपने products का निर्माण भी अच्छे से कर पाएंगे.

आशा है आपको इस लेख ‘कैसे शुरू करें कपड़े धोने वाले डिटर्जेंट साबुन बनाने का व्यवसाय’ से डिटर्जेंट केक व्यवसाय, उद्यम व कारोबार के बारे में पूरी जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही… यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें. तब तक के लिए-

“शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल व्यापारिक भविष्य के लिए.” 

धन्यवाद!

जय हिंद! जय भारत!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular