रीसायकल बिजनेसकम लागत में कैसे शुरू करें गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय...

कम लागत में कैसे शुरू करें गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय | How to Start Cattle/Cow Dung Wood Making Business at Low Cost in hindi

गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय (Cow Dung Wood Making Business), गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन, गौ काष्ठ निर्माण व्यवसाय का पंजीकरण, कर्मियों की आवश्यकता, व्यवसाय की लागत व व्यवसाय में मुनाफा

गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय : बढती मंहगाई को देखते हुए आज हमें ऐसे व्यवसायों को विकसित करने की आवश्यकता है, जिन्हें कम पूँजी निवेश के साथ आसानी से कहीं भी शुरू किया जा सकता हैं. गोबर आधारित उत्पाद निर्माण व्यवसाय एक ऐसी पहल है जो पर्यावरण को बिना क्षति पहुचाये हमारी प्राथमिक जरूरतों (ईंधन) को पूरा करने क्षमता रखता है.

बशर्ते यदि हम गोबर अपशिष्ट का सही प्रबंधन/निपटान (cattle/cow dung waste management) कर सकें तो वेस्ट को वेल्थ में आसानी से बदला जा सकता है मतलब कचरे को भी अच्छी कमाई का जरिया बनाया जा सकता है. जो waste to wealth को एक सकारात्मक पहलु में सुशोभित करने का काम करता है.

गोबर-से-लकड़ी-बनाने-का-व्यवसाय-Cow-Dung-Wood-Making-Business

गोबर उत्पाद निर्माण व्यवसाय के तहत आज इस पोस्ट के माध्यम से हम ऐसे एक व्यवसाय की विस्तृत जानकारी साझा करेंगे, जिसको हमेशा से एक सदाबहार बिजनेस की श्रेणी में गिना जाता है. तो चलिए शुरू करते हैं- बात करते हैं गौ काष्ठ निर्माण व्यवसाय मतलब गोबर से लकड़ी बनाने के व्यवसाय (Cow Dung Wood Making Business) की-

अनुक्रमिका

गोबर से लकड़ी बनाने के व्यवसाय का महत्व (Importance of Cow Dung Wood Making Business)-

गौ काष्ठ अर्थात् गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय स्थापित करना एक सदाबहार चलने वाला बड़े मुनाफे का कारोबार है. गोबर से बनी लकड़ियों का उपयोग धार्मिक कर्मकाण्डों जैसे- पूजा, यज्ञ, हवन, धुली देने में तो किया ही जाता है, इसके अलावा गोबर से बनी लकड़ी (Gobar Loaf) की सबसे अधिक खपत शमशान घाट बर्फीले/ठंडे स्थानों आदि स्थानों पर होती है.

गोबर से बनी लकड़ी (गौ काष्ठ) को जलाने पर यह जल्दी ही आग पकड़ लेती है और लम्बे समय तक आग्नि को संजोय भी रखती है, साथ ही गोबर से बनी लकड़ी को जलाने पर उत्पन्न होने वाला धुआं वातावरण को शुद्ध भी करता जाता है. इसके अलावा गोबर से बनी लकड़ी, पारंपरिक लकड़ी के मूल्य से काफी कम कीमत पर निर्मित भी हो जाती है. जो व्यवसायिक दृष्टी से बड़े लाभ को इंगित करता है.

आइये जानते हैं गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय (गौ काष्ठ व्यवसाय) स्थापित करने के लिए किन-किन चीजों और मशीनरी की आवश्यकता होती है-

गोबर से लकड़ी बनाने के लिए रॉ मटेरियल (Required Raw Material for Cattle/Cow Dung Wood Making)-

गोबर से लकड़ी का निर्माण करने अथवा गौ काष्ठ बनाने के लिए मात्र 02 तरह के कच्चे माल की आवश्यकता होती है. साथ ही यह कच्चा माल भारत के किसी भी क्षेत्र से बहुत ही आसानी से प्राप्त किया जा सकता है. ये रॉ मटेरियल हैं-

  1. पशु गोबर (गौवंश के गोबर को प्राथमिकता)
  2. लकड़ी का बुरादा/चूरा (किसी भी सूखी लकड़ी का बुरादा)
  3. सूखी घास (पराली, भूसा, मैदानी घास आदि)
  4. साफ पानी (आवश्यकतानुसार)

गोबर से लकड़ी बनाने के लिए गोबर और लकड़ी चूरे/बुरादे व सूखी घास को क्रमशः 60 : 30 :10 के अनुपात से मिश्रण तैयार कर गोबर की लकड़ी निर्मित की जाती है.

गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय में आवश्यक स्थान (Required Area for Cow Dung Wood Making Business)-

व्यवसायिक तौर पर गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय स्थापित करने के लिए इच्छुक उद्यमी/किसान अथवा व्यवसायीय को कम से कम 2500 sqft area की आवश्यकता होती है, जहां मशीन व प्रोडक्शन आदि के लिए कम से कम 1000 sqft area में शेड (छत) होना जरूरी है.

शेष क्षेत्र को खुला छोड़ दिया जाता है क्योंकि उत्पाद को प्रारंभिक ढांचा दे देने के बाद गोबर से बनी लकड़ी को सूरज की तपन से खुले वातावरण/मौसम में सुखाया जाता है. गोबर लकड़ी (cow dung loaf) को खुले वातावरण/मौसम में सूखने के लिए 05 से 10 दिन लग सकते हैं. यह पूरी तरह से मौसम पर निर्भर करता है.

गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय स्थापित करने के लिए इच्छुक उद्यमी/किसान अथवा व्यवसायीय को ऐसे स्थान का चुनाव करना चाहिए जो रिहाइसी क्षेत्रों से कुछ दूरी पर स्थित हो, साथ ही वाहनों आदि के आवागमन में कोई समस्या न होती हो. आपके चयनित स्थान पर पानी आदि की व्यवस्था का होना अनिवार्य है.

इसके अलावा चयनित स्थान पर मशीन आदि का स्थान ऐसे निर्धारित किए गए हों जिससे कर्मचारियों को काम करने एवं कच्चा व तैयार माल सुरक्षित रखने में असुविधा न हो। आपके कार्यस्थल/स्थान पर बिजली की उचित व्यवस्था का होना प्राथमिक अनिवार्यता है.

इसे भी पढ़ें- घर से शुरू करें मिट्टी उत्पाद बनाने का कारोबार

गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय में मैनपावर की आवश्यकता (Required Manpower for Cow Dung Wood Making)-

व्यवसायिक तौर पर गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय/कारोबार को शुरू करने में कम से कम 07 से 10 मैनपावर/कर्मचारियों की अवश्यकता हो सकती है.

ये कर्मचारी- मार्केटर/सेल्समैन, अकाउंटेंट, योग्य लेबर (skilled labors) व सफाई कर्मी आदि हो सकते हैं. इसके साथ ही आपको तैयार माल को ढोने के लिए माल वाहक वाहन की आवश्यकता पड़ सकती है…

गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय का पंजीकरण (Registration for Cow Dung Wood Making Business)-

व्यवसायिक स्तर पर गोबर आधरित उत्पादों को बनाने और बाजार में बिक्री करने के लिए Gobar Products Manufacturing Business का पंजीकरण कराना अनिवार्य है. व्यवसाय का पंजीकरण कराने से सरकार द्वारा व्यवसाय शुरू करने के लिए लोन व सब्सिडी जैसी सुविधा भी सुलभ हो जाती है.

गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय (Cow Dung Wood Making Business)शुरू करने के लिए नीचे बताए गए प्रमाणों से प्रमाणन कराना होता है-

  1. MSME (उद्यम पंजीकरण)
  2. GST No (टैक्स पंजीकरण)
  3. NOC (No Objection Certificate) प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से अनापत्ति प्रमाण पत्र

गोबर से लकड़ी बनाने के लिए मशीनरी (Required Machinery for Cow Dung Wood Making)-

मौजूदा बाजार में गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन कार्य क्षमता के आधार पर अलग-अलग मूल्य की आती हैं. व्यवसायिक स्तर पर गोबर की लकड़ी बनाने के लिए मात्र 02 मशीनों की आवश्यकता होती है-

  1. Mixing Machine
  2. Gobar Wood Maker Machine

गोबर वुड मेकर मशीन (Cattle/Cow Dung Wood Maker Machine) जिसे Gobar se lakdi banane ki machine के नाम से जाना जाता है. मौजूदा बाजार में यह मशीन अलग-अलग कैपेसिटी की आती है तथा कैपेसिटी के आधार पर इसका मूल्य भी अलग-अलग होता है.

गोबर-से-लकड़ी-बनाने-वाली-मशीन

इसे भी पढ़ें- प्लास्टिक वेस्ट रीसायकल व्यवसाय दे रहा तगड़े मुनाफे की सौगात

गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन की कीमत क्या है?

गोबर से लकड़ी बनाने वाली मशीन की कीमत 45,000 रुपये प्रति इकाई से शुरू हो जाती है.

गोबर से लकड़ी बनाने की विधि (Process of Cow Dung Wood Making)-

वुड मेकर मशीन से गोबर की लकड़ी बनाना एक सरल प्रक्रिया है, जिसे — चरणों में आसानी से पूरा किया जाता है-

  1. सबसे पहले गोबर, लकड़ी के बुरादे/चूरे व सूखी घास को निर्धारित अनुपात में लेकर मिक्सिंग मशीन में मिक्स किया जाता है. इसके बाद…
  2. कच्चे माल के मिश्रण को Wood Maker मशीन के हॉपर में भर दिया जाता है. जहाँ वुड मेकिंग मशीन आउटलेट से कच्चे माल को बड़े-बड़े loaf या लट्ठे में परिवर्तित कर बाहर निकाल देती है.
  3. मशीन से निकले loaf या लट्ठे नाजुक व गीले होते हैं, जिन्हें सावधानी से निकालकर सीधे सूरज की धूप में सूखने के लिए रख दिया जाता है.
  4. इन loafs या लट्ठों को खुले वातावरण में पूरी तरह से सूखने में लगभग 05 से 10 दिन तक लग सकते हैं. पूरी तरह से सूख जाने के बाद गोबर से बनी लकड़ी उपयोग में लिए जाने को तैयार हो जाती है.

इसे भी पढ़ें- कम लागत में कैसे शुरू करें USB Data Cable बनाने का व्यवसाय

नोट- मशीन के आउटलेट पर लगी डाई को बदलकर वांछित मोटाई व आकार (shape) की लकड़ी का भी निर्माण आसानी से किया जा सकता है. कम मोटाई की लकड़ियाँ अधिकतर धार्मिक कृत्यों में प्राथमिकता पर उपयोग में ली जाती है.

गौ काष्ठ निर्माण व्यवसाय को स्थापित करने के लिए कितने स्थान की जरूरत होती है?

व्यवसायिक तौर पर गौ काष्ठ अर्थात गोबर से लकड़ी बनाने के व्यवसाय को स्थापित करने के लिए कम से कम 2,500 sqft की आवश्यकता होती है. जहां लगभग 1,000 sqft area मशीन आदि को संरक्षित रखने के लिए छतदार होना आवश्यक है.

गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय पर लागत (Total Cost of Cow Dung Wood Making Business)-

गोबर से बने उत्पादों का निर्माण (Cow Dung Products Manufacturing) करने के लिए विशेष तौर पर मशीनरी पर बड़ी लागत आती है. अमूमन कच्चे माल के रूप में लिया जाने वाला गाय का गोबर जिसका अधिकतम मूल्य 05 से 11 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से किसी भी गौशाला अथवा पशुधन स्थान से आसानी मिल जाता है.

साथ ही सूखी लकड़ी का चूरा/बुरादा किसी भी बढई (carpenter) की दुकान से मुफ्त अथवा 02 से लेकर 10 रूपये के बीच मिल जाता है तथा सूखी घास के तहत आने वाले घटकों की पूर्ती के लिए किसी भी ग्रामीण क्षेत्र से संपर्क किया जा सकता है.

गोबर उत्पाद निर्माण उद्योग/उद्यम के तहत मशीनरी मात्र में एक बार ही निवेश करना होता है. यदि आपके पास शुरूआती स्तर पर निवेश लायक धनराशी नहीं है, तो आप गोबर से बने उत्पादों का निर्माण स्वयं अथवा मैनपावर लगाकर हाथों से भी करवा सकते हैं. यहाँ व्यवसाय की लागत के रूप में कर्मचारी वेतन, कच्चा माल, चयनित स्थान पर लगानी होगी.

मोटे तौर पर गोबर से लकड़ी बनाने का व्यवसाय व्यवसायिक स्तर पर स्थापित करने के लिए कम से कम 60,000 से 1.50 लाख रूपये की लागत आ सकती है.

गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय के लिए लोन (Loan)-

भारत सरकार की वेस्ट टू वेल्थ (Waste to Wealth) योजना के तहत प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP)कौशल विकास योजना के अंतर्गत इच्छुक उद्यमी को वांछित व्यवसाय की कुल लागत पर लगभग 35% तक की सब्सिडी/अनुदान मिल सकता है.

सब्सिडी/अनुदान का लाभ लेने के लिए इच्छुक उद्यमी को अपने व्यवसाय का पंजीकरण सूक्ष्म, मध्यम व लधु उद्योग (MSME) के तहत करना अनिवार्य है. पंजीकरण करा लेने के बाद MSME वांछित व्यवसाय का ब्यौरा बैंक को भेज देगा. जहां सब्सिडी की रकम बैंक से लोन मंजूर/अनुमोदित होने के बाद 05 से 07 कार्य दिवसों में उसी बैंक में जमा कर दी जाती है.

गौ काष्ठ उत्पाद की मार्केटिंग (Marketing)-

यूं तो गोबर से बने उत्पादों को किसी भी तरह की मार्केटिंग की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि गोबर से बने प्राकृतिक उत्पादों की मांग हमेशा बाजार में बनी ही रहती है. ऐसा इसलिए क्योंकि गाय के गोबर से बनने वाले उत्पाद अधिकतर हमारे दैनिक उपयोग में लिए जाते हैं.

यद्यपि शहरी क्षेत्रों में गोबर से बने उत्पाद पूर्णत: प्रभावी नहीं, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में गोबर और इससे बने उत्पादों को आज भी सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाती है.

गोबर से बनी लकड़ी मौजूदा समय में एक ऐसे ईंधन का विकल्प साबित होने वाला है, जिसकी जरूरत लगभग सभी को होने वाली है… मौजूदा समय में गोबर लकड़ी की आवश्यकता फैक्ट्रियों की भट्टियों के साथ ऐसे स्थानों पर (शमसान घाट) होती है, जहाँ पर बड़ी मात्रा आग का उपयोग किया जाता है.

शुरूआती चरण में आप अथवा इच्छुक उद्यमी अपने क्षेत्र के इन सुझाये गए स्थानों से संपर्क कर अपने उत्पाद (गोबर लकड़ी) की बिक्री आसानी से शुरू कर अच्छा मुनाफा कमा सकता है. इन स्थानों पर हमेशा लकड़ी की डिमांड बनी ही रहती है, जो गोबर से लकड़ी बनाने के व्यवसाय को सदाबहार बिजनेस की श्रेणी में शामिल कर देता है.

वहीँ ठंड के मौसम में गोबर से बनी लकड़ी की मांग बढ़ जाती है, मौजूदा दौर की मंहगाई को देखते हुए अधिकतर लोग कड़क ठंड से बचने के लिए गोबर से बनी लकड़ी का उपयोग भी बड़े स्तर पर करते हैं क्योंकि गोबर लकड़ी की कीमत पेड़ की लकड़ी की कीमत से बहुत कम होती है.

फुटकर बिक्री के लिए आप अथवा इच्छुक उद्यमी अपने क्षेत्र के स्थानीय हाट-बाजार में स्थान निर्धारित कर गोबर लकड़ी की बिक्री आसानी से कर सकता है.

गोबर से लकड़ी निर्माण व्यवसाय में मुनाफा (Profits in Cow Dung Wood Making Business)-

मुनाफा या लाभ शब्द मौलिक तौर हर किसी को एक नई प्रेरणा देता है. गोबर से लकड़ी बनाने के व्यवसाय/कारोबार में मुनाफे सीमा तय नहीं है, गौ काष्ट बिजनेस में मुनाफा पूरी तरह से उपयोग व डिमांड पर निर्भर करता है, 

मौजूदा समय में गोबर से बनी लकड़ी को किलोग्राम पैमाने के तहत बेचा जाता है. 01 किलोग्राम गोबर से बनी लकड़ी की कीमत न्यूनतम 06 रूपये से लेकर अधिकतम 15 रूपये प्रति किलोग्राम तक हो सकती है. 01 किलोग्राम गोबर लकड़ी को बनाने में अधिकतम लागत 03 से 05 रूपये तक ही आती है.

मोटे तौर पर 10,000 की लागत पर कम 2,500 व अधिकतम 4,500 रूपये तक मुनाफा कमाया जा सकता है, जोकि waste to wealth के तहत बहुत ही अच्छे मुनाफे को इंगित करता है.

अंत में-

हमारा उद्देश्य उन इच्छुक उम्मीदवारों, उद्यमियों और किसानों को बेहतर और विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराना है जो गोबर उत्पाद निर्माण व्यवसाय के क्षेत्र में अपना भविष्य देख रहे हैं और गोबर आधारित कारोबार से अच्छा मुनाफा  बनाना चाहते है.

आशा है आपको इस लेख कैसे शुरू करें गोबर से लकड़ी बनाने का निर्माण व्यवसाय से गोबर उत्पाद (cattle/cow dung product making/manufacturing business) उद्यम/व्यवसाय, व्यापार अथवा कारोबार के बारे में पूरी जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही… यदि कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें. तब तक के लिए-

शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल व्यापारिक भविष्य के लिए.

धन्यवाद!

जय हिंद! जय भारत!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular